Home Breaking News जरूरत पड़ेगी तो बढ़ाई जाएगी रजिस्ट्रेशन की डेट, JNU के कुलपति ने HRD मंत्रालय को दी जानकारी।

जरूरत पड़ेगी तो बढ़ाई जाएगी रजिस्ट्रेशन की डेट, JNU के कुलपति ने HRD मंत्रालय को दी जानकारी।

2 second read
0
23

JNU में जारी हिंसा और प्रदर्शन के बीच यूनिवर्सिटी के वाइस चांसलर जगदीश कुमार ने एक सूचना जारी की है। वीसी ने कहा है कि अगर जरूरत पड़ी तो विंटर सेशन के लिए रजिस्ट्रेशन की आखिरी तारीख को आगे बढ़ाया जा सकता है। जेएनयू में पंजीकरण मंगलवार दोपहर से शुरू हुआ था और यह 12 जनवरी तक चलेगी। अबतक तीन हजार से अधिक छात्र अपना पंजीकरण करवा चुके हैं।

जेएनयू के कुलपति ने कहा है कि 12 जनवरी तक पंजीकरण करवाने वाले छात्रों से किसी तरह का कोई लेट फीस नहीं लिया जाएगा। कुलपति ने इसकी जानकारी मानव संसाधन विकास मंत्रालय को दी है। दरअसल यह पंजीकरण परीक्षाओं में शामिल होने और नए सत्र की पढ़ाई शुरू करने के लिए करवाया जा रहा है।

आपको बता दें कि फीस में बढ़ोतरी और हॉस्टल के रूल में बदलाव के खिलाफ पिछले 72 दिनों से जेएनयू में धरना दे रहे छात्रसंघ के कार्यकर्ताओं पर सर्वर रूम को दुरूस्त करने के बाद शीतकालीन सत्र का पंजीकरण शुरू कर दिया। जबकि दूसरी तरफ जेएनयू छात्रसंघ ने छात्रों से पंजाकरण के बहिष्कार करने की अपील की है।

जेएनयू छात्रसंघ ने बुधवार को भी वीसी के खिलाफ प्रदर्शन किया था और वीसी हटाओ, जेएनयू बचाओ के नारे लगाए थे। वहीं जेएनयू के कुलपति ने कहा कि वह विश्विद्यालय में शांति बहाली का भरपूर प्रयास कर रहे हैं। इसलिए उन्होंने छात्रों से नई शुरूआत करने की अपील की है और कहा है कि छात्र शीतकालीन सत्र के लिए अपना पंजीकरण करवाएं। उन्होंने जेएनयू में हुई हिंसा को दुर्भाग्यपूर्ण बताया।

वहीं जेएनयू छात्रसंघ का कहना है कि यूनिवर्सिटी प्रशासन द्वारा छात्रों पर कार्रवाई का दवाब बनाया जा रहा है। छात्रों को शीतकालीन सत्र के लिए जबरदस्ती पंजीकरण करवाने को कहा गया है वहीं पंजीकरण नहीं करवाने वाले छात्रों के खिलाफ कार्रवाई की धमकी भी दी गई है। छात्र संघ का कहना है कि, कुलपति जबतक फीस वृद्धि का फैसला वापस नहीं लेते तबतक यूनिवर्सिटी में यह विरोध जारी रहेगा।

Share Now
Load More In Breaking News
Comments are closed.