Home Breaking News जम्मू-कश्मीर बर्फबारी प्राकृतिक आपदा की श्रेणी में शामिल, उत्तर भारत में फिर लुढ़केगा तापमान

जम्मू-कश्मीर बर्फबारी प्राकृतिक आपदा की श्रेणी में शामिल, उत्तर भारत में फिर लुढ़केगा तापमान

0 second read
0
8

देशभर के ज्यादातर इलाकों में मौसम के मिजाज ने एक बार फिर करवट ली है। पहाड़ों पर जारी बर्फबारी के सिलसिले के बीच मैदानी इलाकों में सर्दी का सितम फिर बढ़ गया है। उत्तर भारत के अधिकांश इलाकों में शीतलहर ने मुश्किल बढ़ा दी है।

भारतीय मौसम विभाग के मुताबिक देश के 8 से ज्यादा राज्यों में कड़ाके की ठंड पड़ने के आसार बने हुए हैं। जबकि पहाड़ी राज्यों में बर्फबारी के बीच तापमान फ्रीजिंग पाइंट से नीचे रहने की उम्मीद है।

वही घाटी में बर्फबारी से अब तक करीब तीन हजार इमारतों को नुकसान पहुंचा है। आसमान से इतनी बर्फ गिर रही है कि लोगों का घर से बाहर निकलना मुश्किल हो गया है। कमोबेश पूरी कश्मीर घाटी में हालात यही हैं। यहां बर्फबारी के बाद ठंड बहुत ज्यादा बढ़ गयी है।

घाटी में बर्फबारी से अब तक करीब तीन हजार इमारतों को नुकसान पहुंचा है। आसमान से इतनी बर्फ गिर रही है कि लोगों का घर से बाहर निकलना मुश्किल हो गया है। कमोबेश पूरी कश्मीर घाटी में हालात यही हैं. यहां बर्फबारी के बाद ठंड बहुत ज्यादा बढ़ गयी है।

श्रीनगर में न्यूनतम तापमान माइनस दो डिग्री तक पहुंच गया, जिसके कारण पिछले एक हफ्ते में हुई बर्फ पूरी तरह से जम गयी है। फिलहाल अगले कुछ हफ्ते तक तो इसी तरह का हाल बना रहेगा।

हालांकि मौसम विभाग की तरफ से अच्छी खबर आयी है कि अगले पांच दिनों तक फिलहाल मौसम में सुधार रहेगा। बर्फ नहीं गिरेगी, लेकिन इस बर्फ के साथ पड़ने वाली ठंड ज्यादा हो जाएगी, जिसकी वजह से ना सिर्फ कश्मीर घाटी बल्कि पूरे उत्तर भारत में शीतलहर का प्रकोप बढ़ेगा और पारा लगातार नीचे जाएगा।

आज भी लद्दाख में पारा माइनस 15 से 20 हो चुका है। लेह और करगिल में पारा माइनस 16 और द्रास में माइस 20 से नीचे चला गया है, जिससे आने वाले 48 घंटे में शीतलहर पूरे उत्तर भारत को अपने चपेट में ले लेगी।

लेकिन परेशानी सिर्फ इतनी नहीं है। श्रीनगर हाइवे पर कई किलोमीटर लंबा जाम लगा हुआ है। सैकड़ों गाड़ियां यहां फंसी हुई हैं। कई ट्रक ऐसे हैं जो पिछले आठ दिनों से यहीं पर फंसे हुए हैं।

वही मौसम विभाग के मुताबिक उत्तर भारतीय राज्यों में 11 से 13 जनवरी के बीच मौसम सूखा रहने और सुबह के समय कुछ स्थानों पर कोहरे की आशंका बनी हुई है। वहीं ज्यादातर इलाकों में शीतलहर के चलते ठिठुरन बढ़ने के आसार हैं। यूपी में मेरठ सबसे ठंडा स्थान रहा जहां पारा 8.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

वहीं पंजाब और हरियाणा के अधिकतर हिस्सों में रविवार को ठंड का प्रकोप जारी रहा, वहीं कई क्षेत्रों में घना कोहरा छाया रहा जिससे दृश्यता कम हो गई. पंजाब एवं हरियाणा की संयुक्त राजधानी चंडीगढ़ में न्यूनतम तापमान 9.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जो सामान्य से 4 डिग्री कम है।

Load More In Breaking News
Comments are closed.