1. हिन्दी समाचार
  2. business news
  3. भारतीय मूल के नडेला बने दुनिया के सबसे बड़ी कंपनी माइक्रोसॉफ्ट के चेयरमैन, मिला …इनाम

भारतीय मूल के नडेला बने दुनिया के सबसे बड़ी कंपनी माइक्रोसॉफ्ट के चेयरमैन, मिला …इनाम

By Amit ranjan 
Updated Date

नई दिल्ली : भारतीय मूल के सत्य नडेला (Satya Nadella) पिछले सात साल से दुनिया की सबसे बड़ी सॉफ्टवेयर बनाने वाली कंपनी माइक्रोसॉफ्ट में सीईओ हैं। जिनके नेतृत्व में माइक्रोसॉफ्ट ने आसमान की बुलंदियों को छुआ और उन्हें अब इसका इनाम दिया गया है। गौरतलब है कि माइक्रोसॉफ्ट ने सत्या नडेला को अपना चेयरमैन नियुक्त किया है। वे जॉन थॉमसन की जगह लेंगे जो एक बार फिर लीड इंडिपेंडेंट डायरेक्टर की भूमिका में वापस लौटेंगे। बता दें कि थॉमसन को 2014 में चेयरमैन बनाया गया था। उससे पहले वह कंपनी के बोर्ड में लीड इंडिपेंडेंट डायरेक्टर थे।

आपको बता दें कि 53 वर्षीय नडेला को 2014 में माइक्रोसॉफ्ट का सीईओ बनाया गया था। जब कंपनी कई तरह की परेशानियों से गुजर रही थी। नडेला ने न सिर्फ माइक्रोसॉफ्ट को इन परेशानियों से बाहर निकाला बल्कि उसे नई बुलंदियों तक पहुंचाया। उन्होंने क्लाउड कंप्यूटिंग, मोबाइल ऐप्लिकेशंस और आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस पर फोकस किया और साथ ही ऑफिस सॉफ्टवेयर फ्रेंजाईजी में भी नई जान फूंकी।

शेयरों की कीमतों से सात गुना अधिक इजाफा

उनके कार्यकाल के दौरान माइक्रोसॉफ्ट के शेयरों की कीमत में सात गुना से अधिक इजाफा हुआ और कंपनी का मार्केट कैप 2 लाख करोड़ डॉलर के करीब पहुंच गया। बता दें कि नडेला कंपनी के तीसरे सीईओ हैं और कंपनी के इतिहास में तीसरे चेयरमैन होंगे। इससे पहले बिल गेट्स और थॉमसन कंपनी के चेयरमैन रह चुके हैं। नडेला से पहले स्टीव बाल्मर कंपनी के सीईओ रहे। कंपनी ने एक बयान में कहा कि 72 साल के थॉमसन लीड इंडिपेंडेंट डायरेक्टर के तौर पर एक्टिव रहेंगे और नडेला के कंपनसेशन, सक्सेशन प्लानिंग, गवर्नेंस और बोर्ड ऑपरेशंस देखेंगे।

भारत के हैदराबाद में पढ़ाई

आपको बता दें कि सत्या नडेला का जन्म भारत के हैदराबाद में साल 1967 में हुआ था। उनके पिता एक प्रशासनिक अधिकारी और मां संस्कृत की लेक्चरर थीं। उन्होंने प्रारंभिक शिक्षा हैदराबाद पब्लिक स्कूल से करने के बाद साल 1988 में मनिपाल इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी से इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग की पढ़ाई की और इसके बाद कंप्यूटर साइंस में एमएस करने के लिए अमेरिका चले गए। उन्होंने 1996 में शिकागो के बूथ स्कूल ऑफ बिजनस से MBA का डिग्री हासिल किया।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...
RNI News Ads