1. हिन्दी समाचार
  2. विदेश
  3. बाइडन की सरकार में भारतीय अ‍मेरिकी विवेक मूर्ति और अरुण मजूमदार को बनाया जा सकता है मंत्री, जानें क्‍या मिलेगी जिम्‍मेदारी

बाइडन की सरकार में भारतीय अ‍मेरिकी विवेक मूर्ति और अरुण मजूमदार को बनाया जा सकता है मंत्री, जानें क्‍या मिलेगी जिम्‍मेदारी

By RNI Hindi Desk 
Updated Date

वाशिंगटन:  अब अमेरिका में सरकार बनाने की तैयारियां शुरू हो गई हैं। समाचार एजेंसी पीटीआई ने ‘द वाशिंगटन पोस्ट’ और ‘पॉलिटिको’ के हवाले से अपनी रिपोर्ट में कहा गया है कि पूर्व सर्जन जनरल विवेक मूर्ति समेत दो प्रमुख भारतीय अमेरिकी जो बाइडन (joe Biden) और कमला हैरिस (Kamla Harris) की अगुवाई वाली नई सरकार की कैबिनेट में शामिल किए जा सकते हैं।

मौजूदा वक्‍त में अमेरिका में कोरोना का कहर जारी है। नव निर्वाचित राष्ट्रपति जो बाइडन (joe Biden) के शीर्ष भारतीय अमेरिकी सलाहकार विवेक मूर्ति (Vivek Murthy) को कोरोना के खिलाफ जारी लड़ाई में स्वास्थ्य एवं मानव सेवा मंत्री की जिम्‍मेदारी सौंपी जा सकती है जबकि स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी ( Stanford University) के प्रोफेसर अरुण मजूमदार (Arun Majumdar) को ऊर्जा मंत्री का पद दिया जा सकता है।

मौजूदा वक्‍त में विवेक मूर्ति सत्ता हस्तांतरण के कोविड-19 सलाहकार बोर्ड के सह अध्यक्ष हैं। 43 वर्षीय मूर्ति कोरोना से जुड़े मामलों में बाइडेन के सहयोगी रहे हैं। वहीं एडवांस रिसर्च प्रोजेक्ट्स एजेंसी-एनर्जी के पहले निदेशक के तौर पर काम कर चुके मजूमदार (Arun Majumdar) ऊर्जा संबंधी मामलों पर बाइडन के शीर्ष सलाहकार हैं। रिपोर्टों में कहा गया है कि ऊर्जा मंत्री पद के लिए कई दूसरे भी दावेदार हैं।

इन दावेदारों में पूर्व ऊर्जा मंत्री अर्नेस्ट मोनिज, स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी के शोधार्थी डैन रीचर (Dan Reicher) और पूर्व उप ऊर्जा मंत्री एलिजाबेथ शेरवुड रैंडल (Elizabeth Sherwood-Randall) शामिल हैं। यही नहीं रिपोर्टों में स्वास्थ्य एवं मानव सेवा मंत्री पद के लिए भी दूसरे दावेदारों की बात कही गई है। इस पद के लिए मूर्ति के अलावा उत्तरी कैरोलाइना की स्वास्थ्य एवं मानव सेवा मंत्री मैंडी कोहेन (Mandy Cohen) और न्यू मैक्सिको की गवर्नर मिशेल लुजान ग्रीशम (Michelle Lujan Grisham) शामिल हैं।

मालूम हो कि 43 वर्षीय विवेक मूर्ति एक चिकित्सक और पूर्व जनरल सर्जन रहे हैं। उन्‍होंने कोरोना से निपटने पर बाइडन के सलाहकार बोर्ड के सह-अध्यक्ष के रूप में काम किया है। राष्ट्रपति चुनाव में उन्‍होंने अपने काम से बाइडन को काफी प्रभावित किया है। वह चुनावी कैंपेन के दौरान बाइडन को लगातार ब्रीफ करते थे और सुरक्षित कैंपेन इवेंट कराने में मदद करते थे। बाइडन भी कई बार विवेक मूर्ति की सार्वजनिक मंचों पर तारीफ कर चुके हैं।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...