Home Madhya Pradesh छापेमारी में कांग्रेस विधायक के घर से इतना कैश मिला कि नोट गिनने की मशीने लगानी पड़ी!

छापेमारी में कांग्रेस विधायक के घर से इतना कैश मिला कि नोट गिनने की मशीने लगानी पड़ी!

1 second read
0
11

रिपोर्ट: सत्यम दुबे
भोपाल: कोरोना महामारी के कारण लगे लॉकडाउन से आम आदमीं की जिंदगी काफी कठिनाइयों से भर गई है। सबसे बड़ी कठिनाई लोगो को आर्थिक तंगी से हुई। आपको बता दें लोगो की जिंदगी में आई कठिनाई के बीच रविवार बैतूल के कांग्रेस विधायक निलय डागा के अलग-अलग घरों में आयकर विभाग ने इतने करोड़ रुपये जब्त किये कि उसको गिनने के लिए बैंक खुलवाकर मशीने मंगवानी पड़ी।

आपको बता दें कि रविरार को बैतूल के कांग्रेस विधायक निलय डागा के मध्य प्रदेश और दूसरे राज्यों में स्थित अलग-अलग ठिकानों पर बीते तीन दिनों से इनकम टैक्स डिपार्टमेंट की टीमें रेड डाले हुई हैं। इसी बीच आयकर विभाग ने विधायक के महाराष्ट्र स्थित सोलापुर घर पर छापा मारा। यहां से अधिकारियों 7 करोड़ 50 लाख रुपये कैश बरामद किये। आधिकारियो ने निलय डागा के घर पर शनिवार रात करीब 1 बजे पहुंचकर छापा मारा था।

सोलापुर स्थित डागा के घर से रविवार को एक कर्मचारी एक बैग लेकर भारने की कोशिश करने लगा। जिसके बाद अधिकारियों ने उसे धर दबोचा। बैग की तलाशी ली गई तो बैग नोटो से भरा मिला। इसी आवास से एक दूसरा बैग भी अधिकारियों ने जब्त किया। दूसरा बैग भी करेंसी से भरी मिली। जिसके बाद अधिकारियों को करेंसी गिनने के लिए मशीनें लगानी पड़ी। करेंसी गिनने के बाद 7.5 करोड़ रुपए कैश आयकर विभाग ने सोलापुर ठिकाने से बरामद किया। अधिकारियों ने जब पूछा ये पैसे आपके पास कहां से आये तो डागा बंधु अधिकारियों को आय का स्त्रोत नहीं बता पाये। जिसके बाद विभाग ने इन रुपयों को जब्त कर लिया।

आपको बता दें कि दो दिन पहले भी जब आयकर विभाग ने छापा मारा था, तो विधायक के बैतूल समेंत दूसरे ठिकानों से भी 60 लाख रुपये कैश बरामद हुए थे। सभी करेंसी को मिला दे तो विभाग ने 8 करोड़ 10 लवोख रुपये जब्त की है। रविवार को ऑफ होने बाद भी सोलापुर में दो बैंकों की शाखाएं इस पैसे को जमा कराने के लिए विशेष तौर पर खुलवाई गईं।

आयकर विभाग की सूत्रों की मानें तो बैतूल के विधायक निलय डागा और उनके भाई कोलकाता की 24 कंपनियों से फर्जी लेनदेन कर रहे थे। आयकर विभाग ने बताया कि इसका मुख्य उद्देश्य टैक्स चोरी करना है। इस दौरान सैकड़ों ऐसे दस्तावेज आयकर टीम को मिले हैं, जिनसे साबित होता है कि डागा बंधुओं ने इन कंपनियों से करीब 100 करोड़ रुपए तक के ट्रांजेक्शन किया है। आपको बता दें कि बैतूल से कांग्रेस विधायक निलय डागा का तेल का बड़ा कारोबार है।
विधायक के घर हुई छापेमारी में मिले अकूत संपत्ती पर बीजेपी भी लगातार हमलावर हो रही है। चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग ने हमला बोलते हुए कहा कि “15 महीने की कमलनाथ सरकार के दौरान मंत्री रहे कांग्रेस नेताओं के घर पर अगर आयकर और अन्य एजेंसियों ने छापामार कार्रवाई की, तो इससे भी बड़ी मात्रा में अकूत संपत्ति मिलेगी।“

उन्होने आगे कहा कि कमलनाथ सरकार में जमकर भ्रष्टाचार हुआ है। कांग्रेस विधायक निलय डागा पर जिस तरह की कार्रवाई हुई। उनके पास जिस तरह की अकूत संपत्ति मिली है, वह चैंकाने वाली है।

Load More In Madhya Pradesh
Comments are closed.