1. हिन्दी समाचार
  2. देश
  3. ICG में प्रमोशन के लिए आईजी स्तर के अधिकारियों ने की अपने रिकॉर्ड से छेड़छाड़, रक्षा मंत्रालय ने दिये जांच के आदेश

ICG में प्रमोशन के लिए आईजी स्तर के अधिकारियों ने की अपने रिकॉर्ड से छेड़छाड़, रक्षा मंत्रालय ने दिये जांच के आदेश

इंडियन कोस्ट गार्ड में प्रमोशन के लिए आईजी स्तर के अधिकारियों ने अपनी ही रिकॉर्ड के साथ छेड़छाड़ का मामला सामने आया है। जिससे वे प्रमोशन का लाभ ले सकें। वे अपने इन मंसूबों में कामयाब होते उससे पहले ही इस बात की जानकारी सरकार को मिल गई। रक्षा मंत्रालय ने प्रमोशन-बोर्ड को भंग करते हुए पूरे मामले के जांच के आदेश दे दिए हैं।

By Amit ranjan 
Updated Date

नई दिल्ली : इंडियन कोस्ट गार्ड में प्रमोशन के लिए आईजी स्तर के अधिकारियों ने अपनी ही रिकॉर्ड के साथ छेड़छाड़ का मामला सामने आया है। जिससे वे प्रमोशन का लाभ ले सकें। वे अपने इन मंसूबों में कामयाब होते उससे पहले ही इस बात की जानकारी सरकार को मिल गई। रक्षा मंत्रालय ने प्रमोशन-बोर्ड को भंग करते हुए पूरे मामले के जांच के आदेश दे दिए हैं।

अधिकारियों ने की अपने सेवा-रिकॉर्ड में छेड़छाड़

जानकारी के मुताबिक, भारतीय तटरक्षक बल में जल्द ही आईजी‌ (इंस्पेक्टर जनरल) रैंक के अधिकारियों का एडिशनल डीजी (डायरेक्टर जनरल) रैंक के लिए पदोन्नित होने जा रही थी। इसके लिए एक प्रमोशन-बोर्ड का गठन भी किया गया था। लेकिन इस दौरान पाया गया कि प्रमोशन के लिए कोस्टगार्ड के अधिकारियों ने अपने सेवा-रिकॉर्ड में छेड़छाड़ की है, ताकि एडिशनल डीजी रैंक पर उनकी तरक्की हो सके।

सूत्रों के मुताबिक, ये एक आंतरिक-जांच है और रक्षा मत्रांलय के एक ज्वाइंट सेक्रेटरी रैंक के अधिकारी पूरे मामले की जांच करेंगे। हालांकि इस पूरे मामले पर कोस्टगार्ड की तरफ से कोई आधिकारिक जानकारी सामने नहीं आई है।

12 नॉटिकल मील तक की समुद्री-सीमाओं की सुरक्षा में तैनात

आपको बता दें कि इंडियन कोस्टगार्ड देश के तटों और समंदर में 12 नॉटिकल मील तक की समुद्री-सीमाओं की सुरक्षा में तैनात है। इसके अलावा समंदर में प्रदूषण के खिलाफ लड़ने के लिए भी कोस्टगार्ड एक नोडन एजेंसी है। समंदर में राहत और बचाव कार्यों के लिए भी कोस्टगार्ड का एक अहम योगदान है।

बता दें कि इंडियन कोस्टगार्ड के पास समुद्री सीमाओं की सुरक्षा के लिए जहाज और बड़ी-बोट्स का एक बड़ा बेड़ा है। पिछले कुछ सालों तक कोस्टगार्ड का मुखिया (डीजी) नौसेना का एक एडमिरल रैंक का अधिकारी होता था, लेकिन अब कोस्टगार्ड के अधिकारियों को ही डीजी की पोस्ट के लिए चुना जाता है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...