Home वायरल यहां दो नाबालिग लड़कों की आपस में कराई गई विधि-विधान से शादी, दोस्त को बनाया दुल्हन माता-पिता ने गांव के साथ मनाया जश्न

यहां दो नाबालिग लड़कों की आपस में कराई गई विधि-विधान से शादी, दोस्त को बनाया दुल्हन माता-पिता ने गांव के साथ मनाया जश्न

2 second read
0
13

रिपोर्ट: सत्यम दुबे

बांसवाड़ा( राजस्थान): अब तक आप कई अनोखी शादियां सुनी और देखी होंगी, को कई मायनों में काफी अलग रही होगी। लेकिन राजस्थान के बांसवाडा जिले से एक ऐसा हैरान कर देने वाली शादी सामने आई है, जिसे जानकर आप भी दंग हो जायेंगे। दरअसल, यहां दो नाबालिग लड़कों को दूल्हा दुल्हन बनाकर पूरे रीति-रिवाज से उनकी आपस में शादी करा दी गई। आपस में लड़को की शादी कराने से मान्यता है कि गांव में खुशहाली बनी रहती है।

आपको बता दें कि यह हैरान कर देने वाली शादी बांसवाड़ा जिले के बड़ोदिया गांव का है। जहां आदिवासी बहुल क्षेत्र के लोगों ने गांव की खुशहाली के लिए यह अनूठी परंपरा के तहत शादी कराई है। इसके लिए बाकायदा मंदिर पर मंडप में बनाकर पंडित ने मंत्र बोलते हुए यह शादी कराई।

शादी के लिए गांव के लोगों ने लड़के को एकदम दुल्हन की तरह साड़ी पहना और  श्रृंगार कर सजाया। माथे पर बिंदी और हाथ में चुड़ियां पहनाईं। इसके बाद रात को ढोल-बाजे के बीच मंदिर में बने मंडप के बीच लेकर पहुंचे। शादी का माहौल पूरी तरह से असली विवाह की तरह था। आग जालई गई और मंत्रों के बीच विधानपूर्वक शादी करवाई। इसके बाद लड़के ने लड़के की मांग भरी और मंगलसूत्र पहनाया।

इसके साथ ही गांव के लोगों ने रात के अधंरे में ढोल-बाजे बजाकर टोलियों में बारात निकाली। शादी के लिए सभी लोग खुशियां मनाते हुए नाचते गाते हुए जा रहे थे। लोग अपने घरों के सामने आरती की थाली लेकर दूल्हा और दुल्हन को तिलक लगाकर आरती उतारते हुए शुभकामनाएं दे रहे थे। वहीं कई लोगो ने उनको पैसा तो कई ने चॉकलेट और आइसक्रीम भेंट किया। ।

गांव वालों का कहना है कि यह प्रथा लगभग 90 सालों से चली आ रही है। जहां फाल्गुन मास की होली के एक दिन गांव की खुशीहाली और बारिश अच्छी हो इसके लिए इस परंपरा को निभाते हैं। कई सालों पहले गांव में सूखा और लोगों के भूखे मरने की नौबत आ गई थी। जिसके बाद पंडित के कहन पर ऐसा किया गया तो जोरदार बारिश हुई। इसके बाद ये परंपरा लगातार चल रही है।

Load More In वायरल
Comments are closed.