1. हिन्दी समाचार
  2. दिल्ली
  3. दिल्ली-एनसीआर में सुबह से हो रही तेज बारिश, कई इलाकों में भारी जलजमाव, मौसम विभाग ने जारी किया ऑरेंज अलर्ट

दिल्ली-एनसीआर में सुबह से हो रही तेज बारिश, कई इलाकों में भारी जलजमाव, मौसम विभाग ने जारी किया ऑरेंज अलर्ट

मौसम में लगातार उठापटक के बीच एक बार फिर दिल्ली एनसीआर में तेज बारिश हो रही है, जिससे आम लोगों को काफी समस्याओं का सामना करना पड़ रहे है। वहीं आसमान में काले घनों बादलों की वजह से अंधेरा छाया हुआ है। इस कारण सड़कों पर गाड़ियों की रफ्तार धीमी पड़ गई है और गाड़ियों की बत्ती जल रही है।

By Amit ranjan 
Updated Date

नई दिल्ली : मौसम में लगातार उठापटक के बीच एक बार फिर दिल्ली एनसीआर में तेज बारिश हो रही है, जिससे आम लोगों को काफी समस्याओं का सामना करना पड़ रहे है। वहीं आसमान में काले घनों बादलों की वजह से अंधेरा छाया हुआ है। इस कारण सड़कों पर गाड़ियों की रफ्तार धीमी पड़ गई है और गाड़ियों की बत्ती जल रही है। मौसम विभाग ने दिल्ली में भारी बारिश की संभावना को देखते हुए ऑरेंज अलर्ट जारी किया है। आज पूरे दिन रुक-रुककर बारिश जारी रह सकती है।

बारिश के कारण दिल्ली के एम्स फलाईओवर, हयात होटल के पास रिंग रोड पर, सावित्री फलाईओवर के दोनों ओर, महारानी बाग, धौला कुआं से 11 मूर्ति का रास्ता, शाहजहां रोड, आईटीओ के डब्ल्यू प्वाइंट, लाला लाजपत राय मार्ग और मूलचंद अंडरपास के पास जलजमाव से लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

 

2009 का रिकॉर्ड टूटा

दिल्ली-एनसीआर में आज हुई बारिश ने दिल्ली में रिकॉर्ड बना दिया है। सितंबर में इससे पहले एक दिन में इतनी बारिश 2009 के बाद कभी नहीं हुई। 10 सितंबर, 2009 को दिल्ली में 93.8 एमएम बारिश दर्ज की गई थी। पिछले 24 घंटे में सफदरजंग में 112.1 एमएम, लोधी रोड में 120.2 एमएम, रिज में 81.6 एमएम, पालम में 71.1 एमएम और आयानगर में 68.2  एमएम बारिश हुई है।

भारतीय मौसम विभाग के मुताबिक, दिल्ली, एनसीआर-गुरुग्राम, मानेसर, फरीदाबाद, बल्लभगढ़, तोशाम, भिवानी, झज्जर, नारनौल, महेंद्रगढ़, कोसली के अलग-अलग इलाकों में मध्यम से भारी बारिश होगी। आपको बता दें कि इसके अलावा बारिश के कारण उत्तर प्रदेश, बिहार, असम और महाराष्ट्र के कई इलाके बाढ़ की चपेट में है। जो प्रशासन से लेकर सरकार तक के उनके दावों का पोल खोल रहा है। वहीं आम जनता इस बाढ़ से त्रस्त है, जिस कारण उनके सामने खाने की समस्या आ रही है।

बता दें कि बाढ़ के कारण किसानों के फसल बर्बाद हो गए। वहीं कई इलाकों में मार्ग अवरुद्ध हो गये। कई जगहों पर पुल के बह जाने और सड़कों के टूट जाने से आवागमन बाधित हुआ है। इससे लोग अलग-अलग इलाकों में फंसे हुए है। जबकि सरकार द्वारा उन लोगों को राहत देने की कोशिश की जा रही है, लेकिन वो राहत कम जान पड़ रही है। अब देखना यह है कि सरकार राहत को लेकर और क्या कदम उठाती है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...