Home Madhya Pradesh इंजीनियरिंग छात्रा ने आरा मशीन से काटी गर्दन, बहन बाथरूम से चीखते हुए भागी..सीन देख आपकी भी कांप जायेगी रुह

इंजीनियरिंग छात्रा ने आरा मशीन से काटी गर्दन, बहन बाथरूम से चीखते हुए भागी..सीन देख आपकी भी कांप जायेगी रुह

2 second read
0
436

रिपोर्ट: सत्यम दुबे

इंदौर: मध्य प्रदेश के इंदौर शहर से एक ऐसी दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है, जिसे जानकर आपकी रुह कांप जायेगी। एक इंजीनियरिंग छात्रा ने इतनी भयानक तरीके से खुदकुशी की, कि देखने और सुनने वालों के रोंगटे खड़े हो गये। छात्रा ने फर्नीचर काटने वाली आरा मशीन से खुद का गला काट लिया।

आपको बता दें कि छात्रा ने जब इस घटना को अंजाम दिया तो उस वक्त बहन नहा रही थी, जैसे ही वह बाथरुम से बाहर निकली तो दीवारों और फर्श पर खून देखकर उसके होश उड़ गये। जानिए होश उड़ा देने वाली घटना के बारे मे…

आपको बता दें कि घटना इंदौर के संस्कृति पार्क भंवरकुआं थाने के इलाके की है, आत्महत्या करुने वाली छात्रा का नाम डॉली जायसवाल है, जो 24 साल की थी। पुलिस की मानें तो प्रथम दृष्टतया आत्महत्या की संभावना है। घटना की सूचना मितले ही मौके पर पहुंची पुलिस ने देखा कि छात्रा खून से लथपथ मिली और गला कटा हुआ था। इसके साथ ही घटना स्थल पर फर्नीचर रिपेयर करने वाला कटर पड़ा था। अभी तक यह पता नहीं चल पाया है कि छात्रा ने सुसाइड क्यों किया?

वहीं डॉली की बहन मोनिका की मानें तो उसने कहा कि “जैसे ही मैंने यह भयानक मंजर देखा तो चीखती हुई बाहर दौड़ी। पिता को कॉल कर बुलाया, वह पापा से कुछ कहना चाहती थी, लेकिन गला कटने से उसकी आवाज ही नहीं निकली। चारों तरफ खून ही खून था उसके पास कटर रखा था, तार प्लग में लगा था। किसी तरह हम डॉली को डॉक्टर के पास लेकर गए, लेकिन डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।“

आपको बता दें कि मृतका के पिता ओमप्रकाश एक एसी रिपेयरिंग और इंस्टालेशन का काम करते हैं। इस मामले में उन्होंने कहा कि घर का फर्नीचर रिपेयर करने के लिए एक कारीगर को बुलाया था। जो सामान रखकर मजदूर लेने के लिए गया था। उन्होने आगे कहा कि  मैं भी साइट पर काम करने के लिए गया हुआ था।

उन्होने कहा कि मैं जब घर से निकला, तब डॉली ने ही मुझे चाय पिलाई थी। घटना के वक्त बड़ी बेटी मोनिका नहा रही थी। मैं साइट पर पहुंचा, तभी 30 मिनट बाद मोनिका का फोन आया। कहा- डॉली कट गई है। पिता ने बताया कि मुझे लगता है कि गलती से कटर पर मेरी बेटी का पैर पड़ा और बटन चालू हो गई। जिससे मशीन घूमी और वह दो-तीन जगह कट गई।

घटना की जानकारी होते ही इलाके में सनसनी फैल गई, आसपास के लोगों और रिश्तेदारों ने बताया कि डॉली को कुछ समय पहले माइग्रेन की शिकायत हुई थी। जिसके लेकर वह तनाव में रहने लगी थी। वह प्राइवेट फॉर्म भरकर सिविल इंजीनियर की पढ़ाई कर रही थी। उन्होने कहा कि डॉली के इस तरह से आत्महत्या करने का मामला कुछ समझ नहीं आ रहा है।

 

Load More In Madhya Pradesh
Comments are closed.