Home बिज़नेस HDFC बैंक के दूसरी तिमाही का नतीजा,मुनाफा 16% बढ़कर 7703 करोड़ रुपये हुआ

HDFC बैंक के दूसरी तिमाही का नतीजा,मुनाफा 16% बढ़कर 7703 करोड़ रुपये हुआ

5 second read
0
0

HDFC बैंक का एकीकृत शुद्ध लाभ चालू वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही में 16 प्रतिशत बढ़कर 7,703 करोड़ रुपये पर पहुंच गया. बैंक ने शनिवार को अपने नतीजों का एलान किया. बैंक को एक साल पहले इसी तिमाही में 6,638 करोड़ रुपये का एकीकृत शुद्ध लाभ हुआ था.

बैंक ने कहा है कि इस वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही में उसकी कुल आय बढ़कर 38,438.47 करोड़ रुपये हो गयी, जो पिछले वित्त वर्ष की जुलाई-सितंबर अवधि में 36,130.96 करोड़ रुपये थी.

इस वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही में एकीकृत वितरित ऋण साल भर पहले के 9.47 लाख करोड़ रुपये से 14.9 प्रतिशत बढ़कर 10.89 लाख करोड़ रुपये पर पहुंच गया.

बैंक की कुल आय साल भर पहले के 33,755 करोड़ रुपये से बढ़कर 36,069.42 करोड़ रुपये पर पहुंच गयी. बैंक ने कहा, ”पिछली तिमाही में बैंक के कामकाज पर कोविड-19 की महामारी का असर पड़ा. दूसरी तिमाही में भी इसका कुछ असर रहा.

खुदरा कर्ज वितरण में कमी, डेबिट कार्ड व क्रेडिट कार्ड का कम इस्तेमाल तथा कम संग्रह के रूप में यह दिखा. इसके कारण आय करीब 800 करोड़ रुपये कम रही. हालांकि पिछली तिमाही की तुलना में ऋण वितरण और कार्ड के इस्तेमाल में कुछ वृद्धि हुई है.

इस वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही में बैंक की सकल गैर-निष्पादित परिसंपत्ति (एनपीए) 1.08 प्रतिशत पर आ गयी. साल भर पहले यह 1.38 प्रतिशत थी.

इसी तरह शुद्ध एनपीए भी 0.42 प्रतिशत से कम होकर 0.17 प्रतिशत पर आ गयी. हालांकि, एनपीए और आकस्मिक मदों के लिये किया जाने वाला प्रावधान साल भर पहले के 2,700.68 करोड़ रुपये से बढ़कर 3,703.50 करोड़ रुपये पर पहुंच गया.

शनिवार को हुई बैठक में उसके निदेशक मंडल ने शशिधर जगदीशन को अतिरिक्त निदेशक, प्रबंध निदेशक और मुख्य कार्यकारी अधिकारी के पद पर नियुक्ति के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी. इस फैसले को अभी शेयरधारकों से अनुमोदित कराया जाना बाकी है. बोर्ड में परित प्रस्ताव के अनुसार जगदीशन का कार्यकाल 27 अक्टूबर 2020 से शुरू होगा.

जगदीशन तीन साल के लिए एचडीएफसी बैंक की बागडोर संभालेंगे. वह बैंक के मौजूदा प्रमुख आदित्य पुरी की जगह लेंगे. आदित्य पुरी ने नेतृत्व में एचडीएफसी बैंक ने तेज ग्रोथ हासिल की है.

जगदीशन की नियिक्ति को भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) मंजूरी दे चुका है. आदित्य पुरी सितंबर 1994 से बैंक के प्रबंध निदेशक के रूप में अगुवाई करने के बाद 26 अक्टूबर को सेवानिवृत्त होने वाले हैं

 

 

 

 

Load More In बिज़नेस
Comments are closed.