1. हिन्दी समाचार
  2. खेल
  3. क्रिकेट के मैदान में गेंदबाजों के छक्के छुड़ाने वाले गांगुली ने की थी भागकर की शादी, पढ़े डोना और सौरव गांगुली की ये लव स्टोरी

क्रिकेट के मैदान में गेंदबाजों के छक्के छुड़ाने वाले गांगुली ने की थी भागकर की शादी, पढ़े डोना और सौरव गांगुली की ये लव स्टोरी

By Amit ranjan 
Updated Date

नई दिल्ली : क्रिकेट के मैदान में विपक्षी टीमों के गेंदबाजों के होश उड़ाने वाले सौरव गांगुली ने अपने परिवार वालों का भी होश उड़ा दिया था। जब उन्होंने अपने ही पड़ोस की रहने वाली लड़की डोना को घर से भगाकर शादी की थी। हालांकि इस शादी के बाद दोनों परिवार के बीच जमकर झगड़ा हुआ। क्योंकि सौरव और डोना के परिवार बिल्कुल नहीं बनती थी। फिर कैसे दोनों का प्यार परवान चढ़ा और कैसे परिवार वालों ने उन्हें एक्सेप्ट किया, पढ़े ये फिल्मी प्रेम कहानी….

टीम इंडिया के पूर्व कप्तान और मौजूदा बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली (Sourav Ganguly Birthday) आज अपना 49वां बर्थडे सेलिब्रेट कर रहे हैं। 8 जुलाई 1972 को कोलकाता में पैदा हुए सौरव ने टीम इंडिया के लिए 113 टेस्ट मैच और 311 वनडे मैच खेले। उनके क्रिकेट करियर की तरह ही उनकी निजी जिंदगी भी काफी दिलचस्प रही है। उन्होंने अपने पड़ोस में रहने वाली डोना के साथ लव मैरिज की थी। लेकिन इस शादी की राह में कई रोड़े आए।

गांगुली भारतीय क्रिकेट के बदलाव का बड़ा चेहरा हैं। टीम इंडिया आज जहां खड़ी है, उसकी नींव गांगुली के कप्तान रहते ही डाली। उन्होंने टीम में लड़ने का जज्बा पैदा किया। इसी जज्बे के दम पर टीम इंडिया ने एक के बाद एक सफलता की कईं इबारतें गढ़ीं। वो सिर्फ एक बेहतर कप्तान ही नहीं, बल्कि शानदार बल्लेबाज भी थे। उन्होंने टेस्ट में 16 और वनडे में 22 शतक जड़े. वो मैदान पर आक्रामक रहे, लेकिन निजी जिंदगी में बिल्कुल शांत थे। लेकिन उनकी शादी पूरी फिल्मी रही। उन्होंने डोना को घर से भगाकर शादी की थी।

कैसे गांगुली का प्यार परवान चढ़ा और उन्होंने अपनी पड़ोसी डोना से शादी की :-

सौरव गांगुली और डोना स्कूल के दिनों से ही एक-दूसरे से प्यार करते थे। दरअसल, डोना उनकी पड़ोसी थी। लेकिन दोनों परिवार एक-दूसरे से बात नहीं करते थे। स्कूल आते-जाते सौरव अक्सर डोना को देखते थे। डोना को प्रभावित करने के लिए गांगुली उन्हें अपनी फुटबॉल स्किल्स दिखाते हैं। उनकी बचपन की शैतानियां ही डोना को भा गईं और स्कूल की पढ़ाई खत्म-खत्म करते दोनों एक-दूसरे को पूरी तरह अपना दिल दे बैठे।

एक इंटरव्यू में डोना ने गांगुली के साथ हुई पहली डेट का खुलासा किया था। तब उन्होंने बताया था कि गांगुली उनके साथ पहली डेट को लेकर इतने नवर्स हो गए थे कि खूब सारा खाना ऑर्डर कर दिया था। ये देखकर डोना भी हैरान हो गईं थीं। 1996 में इंग्लैंड दौरे पर जाने से पहले सौरव ने डोना से अपने प्यार का इजहार किया था। इंग्लैंड का ये दौरा गांगुली के लिए यादगार रहा। उन्होंने लॉर्ड्स में अपने डेब्यू टेस्ट में शतक जड़कर इतिहास रच दिया था। नॉटिंघम में हुए अगले टेस्ट में भी गांगुली के बल्ले से शतक आया। इन दोनों पारियों ने टीम इंडिया में उनकी जगह पक्की कर दी थी।

सौरव गांगुली की डोना से शादी भी पूरी फिल्मी अंदाज में ही हुई। दोनों के परिवार एक-दूसरे के दुश्मन थे। ऐसे में 1996 के इंग्लैंड दौरे के बाद जब गांगुली वापस भारत आए, तो डोना को लेकर भाग गए। एक दोस्त की मदद से इस कपल ने 12 अगस्त, 1996 को गुपचुप कोर्ट मैरिज कर ली। हालांकि दोनों ने इस बारे में अपने परिवारवालों को कुछ नहीं बताया था। हालांकि, कुछ दिनों बाद दोनों के परिवारों को सौरव और डोना की शादी की भनक लग गई। इसके बाद खूब हंगामा मचा। शुरुआती विरोध के बाद दोनों के परिवारों ने पुराना दुश्मनी भुलाकर इस रिश्ते को मंजूरी देनी पड़ी। इसके बाद 21 फरवरी, 1997 को सौरव-डोना की पूरे रीति-रिवाजों के साथ दोबारा शादी हुई।

शादी के तीन साल बाद सौरव और डोना की जिंदगी में बेटी सना आईं। सना का जन्म नवंबर 2001 में हुआ। सना भी अपनी मां डोना की तरह क्लासिकल डांसर हैं। एक इंटरव्यू में गांगुली ने बताया था कि घर पर सना ही सब कंट्रोल करती हैं। खाने से लेकर घूमने-फिरने का सारा प्लान उनका ही होता है। सना कई बार अपने पिता को सोशल मीडिया पर भी ट्रोल कर चुकी हैं। गांगुली का नेटवेस्ट ट्रॉफी जीतने पर लॉर्ड्स की बालकनी से टीशर्ट उतारकर लहराना तो हर क्रिकेट फैन को याद होगा। लेकिन गांगुली को अपनी ये हरकत पसंद नहीं है। वो कई बार बोल चुके हैं कि मैं दोबारा शायद ऐसा कभी नहीं करूंगा। लेकिन डोना को उनका ये अंदाज बहुत पसंद आया था।

सौरव गांगुली के करियर में भी बुरा दौर आया था। वो टीम इंडिया से 4 साल बाहर रहे थे। इस बुरे दौर में डोना ने उन्हें टूटने नहीं दिया और उन्हें दोबारा क्रिकेट खेलने के लिए प्रेरित किया। तब गांगुली टीम में दोबारा वापसी के लिए लंबे वक्त तक घरेलू क्रिकेट खेले। 6 साल टीम इंडिया के कप्तान रहने वाले गांगुली के लिए ये आसान नहीं था। लेकिन डोना के साथ ने उन्हें ताकत दी और उन्होंने दोबारा टीम में वापसी की और बल्ले से आलोचकों को करार जवाब दिया था।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...
RNI News Ads