Home बिज़नेस फाइनेंशियल सॉफ्टवेयर एंड सिस्टम्स ने मंगलवार को वंचित और बैंक से छूटे हुए वर्गों के वित्तीय समावेशन को बढ़ावा देने के लिये इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक के साथ भागीदारी की घोषणा की

फाइनेंशियल सॉफ्टवेयर एंड सिस्टम्स ने मंगलवार को वंचित और बैंक से छूटे हुए वर्गों के वित्तीय समावेशन को बढ़ावा देने के लिये इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक के साथ भागीदारी की घोषणा की

2 second read
0
7

इस भागीदारी के माध्यम से आईपीपीबी भारत में ग्राहकों को अफोर्डेबल डोरस्‍टेप बैंकिंग सेवाएं देने के लिये एफएसएस के आधार इनैबल्ड पेमेंट सिस्टम (एईपीएस) का उपयोग करेगा।

एफएसएस का एईपीएस सॉल्यूशन ब्रांचलेस बिजनेस मॉडल, डिजिटल वितरण और माइक्रो-टार्गेटिंग की कम लागत वाली संरचना को मिश्रित करता है, जिससे खर्च कम होता है और पहुँच बेहतर होती है। यह रणनीतिक भागीदारी बैंकिंग सुविधाओं से छूटे हुए लाखों ग्राहकों को वित्तीय मुख्यधारा में लाने के लिये ठोस अवसरों की पेशकश करती है।

बैंकिंग और भुगतान सेवाओं के कम उपयोग का प्रमुख कारण है, ग्रामीण क्षेत्रों में पहुँच की चुनौती और सक्रिय खातों को मेंटेन करने का खर्च, जिसमें लेन-देन और परिवहन शामिल हैं, जो लाभों पर भारी पड़ता है। ग्रामीण और शहरों के पास के क्षेत्रों में बैंकिंग एक्सेस पॉइंट तक पहुँचने का औसत समय 1.5 से 5 घंटे तक है, जबकि शहरी क्षेत्रों में यह समय 30 मिनट है।

इस गठबंधन के बारे में एफएसएस के ग्लोबल चीफ रेवेन्यू ऑफिसर कृष्णन श्रीनिवासन ने कहा, ‘‘हम राष्ट्र-निर्माण की इस स्थायी महत्व वाली कवायद में आईपीपीबी के टेक्नोलॉजी पार्टनर बनकर गर्व महसूस कर रहे हैं। यह गठबंधन एफएसएस की पेमेंट्स टेक्नोलॉजी में गहन विशेषज्ञता और सुगम तथा बाजार में अग्रणी नवाचार लाने की प्रतिबद्धता का प्रमाण है, जो वित्तीय पैठ को बढ़ावा देता है।

इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक के एमडी और सीईओ जे. वेंकटरामु  ने कहा, ‘‘आईपीपीबी अपने डिपार्टमेन्ट ऑफ पोस्ट्स नेटवर्क की व्यापक पहुँच और स्वीकृति बढ़ाने के लिये अंतःप्रचालनीय भुगतान प्रणालियों के आगमन के माध्यम से बैंक से छूटे हुए और अंतिम मील पर बैंक से कम संपर्क वाले लोगों की वित्तीय आवश्यकताओं की पूर्ति के लिये उत्पादों और सेवाओं की एक श्रृंखला की पेशकश करने की स्थिति में है।

 

Load More In बिज़नेस
Comments are closed.