1. हिन्दी समाचार
  2. वायरल
  3. कोरोना महामारी से तंग आकर सेहरा बांध अकेले शादी करने पहुंचा दूल्हा, साइकिल पर दुल्हन को लेकर लौटा

कोरोना महामारी से तंग आकर सेहरा बांध अकेले शादी करने पहुंचा दूल्हा, साइकिल पर दुल्हन को लेकर लौटा

By RNI Hindi Desk 
Updated Date

रिपोर्ट: सत्यम दुबे

भागलपुर(बिहार): कोरोना महामारी के दूसरे लहर का कहर लगातार जारी है। कोरोना से संक्रमित मरीज ऑक्सीजन और दवाईयों की कमीं से लगातार दम तोड़ रहें हैं। महामारी के दूसरे लहर ने कई हंसते-खेलते परिवारों को तबाह कर दिया है। स्थिति का गंभीरता को देखते हुए बिहार की नीतीश सरकार लोगो से शादी-विवाह सहित अन्य सामाजिक समारोहों को कुछ दिन टालने या समारोह में कम लोगों के शामिल होने की अपील की है। सीएम के इस बातों पर अमल करते हुए बिना बैंड-बाजा और बाराती के अकेले ही शादी का फैसला लिया और साइकिल से अपनी दुल्हन के घर पहुंच गया।

इसके बाद दूल्हे और दुल्हन ने सात फेरे लिए और सुबह अपनी दुल्हन को भी साइकिल से ही विदा करवाकर दूल्हा अपने घर ले आया। इस अनोखी शादी का मामला भागलपुर के सुल्तानगंज प्रखंड के नयागांव पंचायत के उचकागांव से सामने आया। यहां के रहने वाले अनिल तांती के पुत्र गौतम कुमार (24) की शादी पिछले साल जनवरी में ही बांका जिले के शंभूगंज प्रखंड के भरतशिला गांव के रहने वाले ब्रह्मदेव तांती की पुत्री कुमकुम कुमारी से तय हुई थी।

लेकिन कोरोना के बढ़ते मामलों की वजह से उस समय ये शादी टल गई। इस साल भी जब विवाह का लग्न प्रारंभ हुआ, कोरोना की दूसरी लहर ने दस्तक दे दी और फिर लॉकडाउन लग गया. इसके बाद फिर गौतम की शादी टल गई. इधर, गौतम इस बार शादी करने का फैसला ले लिया। गौतम ने शुक्रवार को बिना बैंड बाजा और बारात के खुद सेहरा पहनकर साइकिल से 24 किलोमीटर दूर बांका जिले के शंभूगंज प्रखंड के भरतशिला गांव पहुंच गया।

दूल्हें के साइकिल से पहुंचने के बाद दुल्हन के परिजनों ने पूरे रीतिरिवाज के साथ दूल्हे का स्वागत किया। इसके बाद दुल्हन के परिजनों ने तत्काल पंडित और नाई बुलाया और उसी दिन शादी की सभी रस्में पूरी की गई। बिना किसी साथी, बैंड-बाजा और बारात के गौतम और कुमकुम ने सात फेरे लिए। इसके बाद शादी की रस्म भी पूरी की।

 

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...
RNI News Ads