1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तराखंड
  3. उत्तराखंड में नहीं कम हो रही बारिश की वजह से मुश्किलें, चमोली में ऋषिकेश-बद्रीनाथ राजमार्ग पर मलबा गिरने से जाम, प्रशासन अलर्ट

उत्तराखंड में नहीं कम हो रही बारिश की वजह से मुश्किलें, चमोली में ऋषिकेश-बद्रीनाथ राजमार्ग पर मलबा गिरने से जाम, प्रशासन अलर्ट

उत्तराखंड में लगातार हो रही बारिश से निजात मिलने में अब भी कोई उम्मीद नहीं दिख रही है। भूस्खलन का खतरा बना हुआ है।

By RNI Hindi Desk 
Updated Date

रिपोर्ट: सत्यम दुबे

चमोली: उत्तराखंड में लगातार हो रही बारिश से निजात मिलने में अब भी कोई उम्मीद नहीं दिख रही है। भूस्खलन का खतरा बना हुआ है। चमोली जिले में ऋषिकेश-बद्रीनाथ राष्ट्रीय राजमार्ग पर पहाड़ी मलबा आ जाने के कारण लंबा जाम लगा हुआ है और वाहन फंस गये हैं।

आपको बता दें कि चमोली में गुरुवार रात को हुई तेज़ बारिश के कारण ऋषिकेश-बद्रीनाथ राष्ट्रीय राजमार्ग पर पागलनाले के पास मलबा आ गया। जिसके कारण यहां पर रास्ता पूरी तरह से बंद हो गया।

राजधानी देहरादून,ऋषिकेश और अन्य इलाकों से आने-जाने वाले लोगों को यहां पर काफी परेशानी हो रही है। शुक्रवार सुबह प्रशासन को इसके बारे में सूचना दी गई है और मशीनों को लगाकर मलबा हटाने की कोशिश की जा रही है। यहां राज्य के परिवहन विभाग की बस भी मलबे में फंस गई है, हालांकि अभी तक हालात सामान्य ही हैं और जाम में फंसे लोग सिर्फ मलबा हटने का इंतज़ार कर रहे हैं।

आपको बता दें कि बारिश के मौसम में पहाड़ी इलाकों में लैंडस्लाइड होने का खतरा बढ़ जाता है। यही वजह है कि हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड के अलग-अलग इलाकों में लैंडस्लाइड की घटनाएं हो रही हैं। बुधवार को ही हिमाचल प्रदेश के किन्नौर में लैंडस्लाइड हुआ था, जहां पर ऐसे ही पहाड़ से गिरे मलबे के नीचे सड़क से गुज़र रहे वाहन आ गए थे।

वहीं हाल ही में किन्नौर की लैंडस्लाइड में करीब 15 लोगों की मौत हो गई और कई लोग घायल हो गए। पहाड़ों से लगातार पत्थर बरसने के कारण NDRF,SDRF के साथ कई और एजेंसिंयो को राहत बचाव का काम करने में भी काफी मशक्कत करनी पड़ रही।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...