Home Breaking News प्रदूषण पर गहरी हुई लड़ाई : बीजेपी अध्यक्ष बोले, केजरीवाल को सिर्फ विज्ञापन देने का शौक

प्रदूषण पर गहरी हुई लड़ाई : बीजेपी अध्यक्ष बोले, केजरीवाल को सिर्फ विज्ञापन देने का शौक

28 second read
0
8
Deep fight over pollution: BJP president said, Kejriwal is fond of advertising only

दिल्ली वैसे तो देश की राजधानी कही जाती है लेकिन सर्दियों में लोगों का दम घुटने लग जाता है और उसका सबसे बड़ा कारण है प्रदूषण, वैसे देखा जाए तो अभी सर्दियों का मौसम शुरु भी नहीं हुआ है लेकिन हवा की दशा जरुर अभी से बिगड़ने लगी है।

दरअसल दिल्ली में प्रदूषण की समस्या पराली जलाने को लेकर होती है। पंजाब हरियाणा जैसे कई राज्य जब पराली को जलाते है तो उससे दिल्ली की हवा बिगड़ जाती है और सर्दियों में वैसे ही नमी होने के कारण हवा के कण दूषित जल्दी होते है।

दिल्ली में हर बार ऐसा होता है की इस मसले पर केंद्र और दिल्ली सरकार आमने सामने होते है और इस बार भी यही हुआ है। दरअसल केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने एक बयान में ये कह दिया की पराली से तो सिर्फ 4 फीसदी प्रदूषण होता है बाकी दिल्ली की अपनी समस्या के कारण ये होता है।

इसके बाद केजरीवाल चुप कहा बैठने वाले थे। उन्होंने भी पलटवार करते हुए कहा, बार-बार इनकार करने से कुछ नहीं होगा। अगर पराली जलने से सिर्फ चार फीसदी प्रदूषण हो रहा है तो फिर अचानक रात में ही कैसे प्रदूषण फैल गया ? उससे पहले तो हवा साफ थी और यही कहानी हर साल होती है।

अब इसी मामले पर आज बीजेपी प्रेजिडेंट आदेश गुप्ता ने प्रेस वार्ता की है। उन्होंने कहा, दिल्ली के CM हर साल की तरह सिर्फ बातें व झूठा प्रचार कर रहे हैं। मैं उनसे पूंछता हूँ कि आप CM क्या सिर्फ़ प्रचार करने के लिए बने हैं? आपने आज तक दिल्ली में प्रदूषण से निपटने के लिए क्या किया ?

उन्होंने कहा, मुख्यमंत्री  जी को केवल अखबारों में विज्ञापन देने का शौक है। न तो वह दिल्ली को प्रदूषण से राहत देने के लिए बजट का उपयोग करते हैं और ना ही निगम को उनके हक़ का पैसा देते हैं। पराली की वजह से केवल 5% प्रदूषण होता है बाक़ी 95% की ज़िम्मेदारी केजरीवाल सरकार की है।

उन्होंने कहा, दिल्ली की जनता की समस्याओं को ध्यान में रखते हुए आज तीनों नगर-निगम स्प्रिंकलर, जेट स्प्रे, स्वच्छता व वृक्षारोपण के माध्यम से वायु प्रदूषण से निपटने का काम रही हैं। मैं दिल्ली के सीएम से अपील करता हूँ कि वे तीनों नगर-निगमों को उनके हक़ का पैसा जल्द से जल्द दें। 

Load More In Breaking News
Comments are closed.