1. हिन्दी समाचार
  2. Madhya Pradesh
  3. रोती रही बहन 13 साल के भाई ने लगी ली फांसी, ऑनलाइन गेम बना मौत का कारण, सुसाइड नोट में लिखा- I am sorry मां रोना मत

रोती रही बहन 13 साल के भाई ने लगी ली फांसी, ऑनलाइन गेम बना मौत का कारण, सुसाइड नोट में लिखा- I am sorry मां रोना मत

मध्य प्रदेश के छतरपुर से एक ऐसा दिल दहला देने वाला मामला सामने आया है, जिसे जानकर आपका भी कलेजा कांप जायेगा।

By RNI Hindi Desk 
Updated Date

रिपोर्ट: सत्यम दुबे

छतरपुर: मध्य प्रदेश के छतरपुर से एक ऐसा दिल दहला देने वाला मामला सामने आया है, जिसे जानकर आपका भी कलेजा कांप जायेगा यहां ऑनलाइन गेम की लत के कारण एक 13 साल के बच्चे ने फांसी लगाकर सुसाइड कर ली। बच्चे ने यह खैफनाक कदम केवल इसलिए उठाया कि गेम खेलते हुए 40 हजार रुपए गंवाने पर उसकी मां ने उसको डांट दिया था। मासूम बच्चे ने एक इमोशनल सुसाइड  नोट भी लिखा है। जिसे जान हर किसी की आंख में आंसू हैं।

आपको बता दें कि छतरपुर के रहने वाले विवेक पांडेय का इकलौता बेटा कृष्णा अक्सर इंटरनेट पर गेम खेलता रहता था। पिता पैथालॉजी सेंटर चलाते हैं और मां प्रीति भी अस्पताल में नौकरी करती हैं, दंपत्ति के जाते ही बेटा घर इंटरनेट पर गेम खेलना शुरू कर देता था।

शुक्रवार दोपहर जब प्रीति के मोबाइल पर बैंक एकाउंट से 500 रुपए कटने का मैसेज आया तो उनको शक हुआ कि यह बेटे ने कुछ किया होगा। इसके बाद उन्होंने बेटे को फोन लगाया और इस बारे में पूछा तो कृष्णा ने बताया कि मां यह पैसे उसके ऑनलाइन गेम की वजह के चलते कटे हैं। मां ने इसी बात पर बेटे को जमकर डांट दिया। लेकिन उनको क्या पता था कि मेरी यह डांट उसकी जिंदगी खत्म कर देगी।

इसके बाद कृष्णा दुखी होकर कमरे में चल गया और दरवाजा बंद कर लिया। घर में बड़ी बहन ने काफी देर तक दरवाजा खटखटाया, लेकिन उसने गेट नहीं खोला। बेटी ने रोते हुए यह पूरी जानकारी मां-पिता को दी। वह घबराते हुए घर पहुंचे और दरवाजे को तोड़ा दिया, अंदर देखा तो मासूम बेटा फंदे पर झूल रहा था। वह आनन-फानन में अस्पताल लेकर पहुंचे, लेकिन डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया।

बच्चे ने फांसी लगाने से पहले एक भावुक नोट भी छोड़ा है। जिसमें लिखा है कि ”आई एम सॉरी मां, मैंन ऑनलाइन गेम फ्री फायर खेलन में आपके 40 हजार रुपए गंवा दिए हैं। मुझे माफ कर देना और आप प्लीज रोना मत”।

कृष्णा छतरपुर के सुमति एकेडमी में कक्षा 6वीं में पढता था। लॉकडाउन की वजह से ऑनलाइन पढ़ाई कर रहा था। माता-पता ने ऑलाइन क्लास के लिए उसे स्मार्ट फोन दिलाया था। लेकिन वह पढ़ाई छोड़ गेम की लत में पड़ गया। परिजनों को लगता कि वह पढ़ाई कर रहा है, लेकिन वह ऑनलाइन गेम फ्री फायर का आदि हो चुका था।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...