Home उत्तर प्रदेश वैलेंटाइन डे पर खौफनाक वारदात का खुलासा, भाई ही बना अपनी बहन के प्यार का दुश्मन

वैलेंटाइन डे पर खौफनाक वारदात का खुलासा, भाई ही बना अपनी बहन के प्यार का दुश्मन

0 second read
0
459

रिपोर्ट: मोहम्मद आबिद
बाराबंकी : वैलेंटाइन डे पर लोग अपने किसी भी प्रेमी को गिफ्ट देते हैं, प्यार करते हैं और प्रेमी जोडा एक दूसरे मोहब्बत करते हैं। लेकिन यहां कुछ एक कलयुगी भाई ने अपनी ही बहन को मौत के घाट उतार दिया लेकिन हत्या का आरोपी बहन के प्रेमी पर मढ़ने के लिए पूरी साजिश कर ली लेकिन आरोपी भाई अपने मंसूबों में कामयाब नहीं हो पाया और पुलिस के हत्थे चढ़ गया।

14 फरवरी एक ऐसा दिन होता है जब प्रेमी जोड़ा एक दूसरे से मोहब्बत का इजाहार करते हैं लेकिन बाराबंकी पुलिस ने वैलेंटाइन डे पर एक ऐसी खौफनाक वारदात का खुलासा किया जिसमें एक युवती की हत्या की वजह उसका ही प्रेमी बन गया। और जिसके उसके ही मां जाए भाई ने ही हत्या को अंजाम दिया है।                                                                                                             

बाराबंकी में बीते 8 महीने पहले एक युवती की हत्या के मामले में पुलिस ने बड़ा खुलासा किया है। पुलिस ने युवती के भाई को ही उसका हत्यारा बताया है और उसे जेल भेजा है।हत्या की वारदात फतेहपुर थाना क्षेत्र की है।जहां एक भाई ने ही अपनी बहन को मौत के घाट उतार दिया और वो भी इसलिए क्योंकि वह गांव के ही एक लड़के से प्यार करती थी। भाई ने पहले लड़की को मना किया और उसके प्रेमी को भी समझाया। लेकिन जब दोनों नहीं माने तो भाई ने लड़की को जान से मार दिया और आरोप उसी के प्रेमी पर मढ़ दिया।

आरोपी भाई ने पूछताछ में कहा है कि राजमल रैदास निवासी जसमंडा मेरी ही गांव के बबलू वर्मा के यहां काम करता है और वही रहता था। राजमहल का संबंध मेरी बहन सो गया था। हम लोगों ने उसका काफी समझाया लेकिन वह नहीं माना। साल 2018 में हम लोगों ने राजमल रैदास और उसके पिता भल्लर की पिटाई की। जिस में इलाज के दौरान पिता भल्ला की मृत्यु हो गई।

बताया जा रहा है की युवती की प्रेम प्रसंग के चलते साल 2018 में अपनी बहन की शादी कर दी, लेकिन इसके बाद भी बहन राजमल से बात करती रही और मई 2020 में वह राजमल के साथ भाग गई। और 9 महीने बाद वापस आई बहन को मौत के घाट उतार दिया, वहीं अब पूरे मामले में कार्रवाई करते हुए पुलिस ने आरोपी को जेल भेज दिया है।

Load More In उत्तर प्रदेश
Comments are closed.