Home विदेश चीन ने वैक्सीन में भी गड़ाई अपनी आंख, कहा हमारी वाली वैक्सीन लगवाकर आओ

चीन ने वैक्सीन में भी गड़ाई अपनी आंख, कहा हमारी वाली वैक्सीन लगवाकर आओ

2 second read
0
2

रिपोर्ट: सत्यम दुबे

नई दिल्ली: भारत ने कोरोना की वैक्सीन दुनिया के कई देशों को दिया है। जबकि भारत में भी तेजी के साथ कोरोना वैक्सीनेशन का काम चल रहा है। भारत में 14 मार्च तक कोविड-19 वैक्सीन की 2.9 करोड़ से ज़्यादा डोज़ लगाई गई। जिनमें से 18 प्रतिशत लोगों को दूसरी डोज़ दी जा चुकी है। इसी के साथ ही चीन ने एक नई चाल चल दी है। चीन ने भारत और अन्य 19 देशों से चीन जाने वाले लोगों के लिए कोरोना वायरस का चीन द्वार बनाई गई वैक्सीन लगवाना अनिवार्य कर दिया है।

आपको बता दें कि नई दिल्ली में चीनी दूतावास ने एक जारी कर कहा कि ”एक व्यवस्थित तरीके से दोनों देशों के लोगों के बीच संपर्क बहाल करने के उद्देश्य से, 15 मार्च से, चीनी दूतावास और भारत में स्थित वाणिज्य दूतावास कोविड-19 का चीन निर्मित वैक्सीन लगवाने वाले लोगों और इसका सर्टिफिकेट रखने वालों की यात्रा को बढ़ावा देने के उपाय कर रहा है।”

जबकि  चीनी सरकारी समाचार पत्र ‘ग्लोबल टाइम्स’ की का मानों ते उसमें बताया गया है कि इस तरह के नोटिस 20 देशों में स्थित चीनी दूतावासों में लगाए गये हैं। चीनी दूतावास से जारी बयान में कुछ स्पष्ट नहीं हो पाया है। चीन ने ये स्पष्ट नहीं किया है कि ये लोग भारत में चीन द्वार बनाई वैक्सीन कैसे प्राप्त करेंगे। आपको बता दें कि चीन द्वारा बनाई गई वैक्सीन देश में उपलब्ध नहीं है।

23,000 से भारतीय छात्र चीन में पढ़ाई कर रहें हैं। इसमें ज्यादातर मेडिकल के छात्र हैं। वहीं चीन में कार्यरत ऐसे सैकड़ों प्रोफेशनल्स भी हैं, जो कोरोना वायरस महामारी को लेकर लागू यात्रा पाबंदियों के चलते भारत में ही रुके हुए हैं। चीन के इस फरमान के बाद सोशल मीडिया पर लोग चीन के ट्रोल करने लगें हैं। चीन ने अपने इस फरमान में तर्क दिया है कि उसकी वैक्सीन लगवाने से अंतरराष्ट्रीय यात्रा को आसान होगी।

 

Load More In विदेश
Comments are closed.