Home उत्तर प्रदेश काशी के श्मशान में मनाया गया जश्न, चित्ता की भस्म से खेली गई होली…

काशी के श्मशान में मनाया गया जश्न, चित्ता की भस्म से खेली गई होली…

3 second read
4
11

रिपोर्ट- माया सिंह

वाराणसी :  काशी में 24 मार्च ,  दिन बुधवार को हर साल की तरह बाबा मशान नाथ के संग चित्ता भस्म की होली खेली गई ।  दरअसल , धर्म और अध्यात्म की नगरी काशी में होली का एक अलग ही महत्व है । यहां शिवभक्त रंगभरी एकादशी के दिन रंग – अबीर के जगह चित्ता के भस्म से होली खेलते हैं । सुनकर अजीब लगेगा लेकिन सच है , काशी के ये वहीं घाट हैं जहां चित्ता की आग कभी शांत नहीं होती औऱ नाही श्मशान के कोसो दूर तक ढ़ोल नगाड़े बजते हैं लेकिन साल में एक ऐसा भी दिन आता है जब काशीवासी यहां आकर चित्ते के राख से होली खेलते हैं और श्मशान में जश्न मनाते हैं।

ऐसा मान्यता है कि रंगभरी एकादशी के दिन ही भगवान शिव , माता पार्वती के संग गवना कर काशी आए थे । इसी खुशी में काशीवासी और भगवान शिव के गण व बारातियों को भस्म से सराबोर किया गया था । तभी से यह परम्परा चलती आ रही है । इस वर्ष भी बाबा कीनाराम स्थल रविंद्रपुरी से बाबा मसान नाथ की शोभायात्रा निकाली गई । यह कीनाराम स्थल से आईपी विजया मार्ग से होकर भेलपुर थाना सोनारपुर होते हुए हरिश्चन्द्र घात स्थित विख्यात बाबा मशान नाथ स्थल पहुंची । जहां लोगों  ने ढ़ोल-नगाड़ो और संगीत के साथ धूम-धाम से भस्म की होली खेली ।

इस शोभायात्रा में बग्घी ,जोड़ी , ऊंट , घोड़ा और ट्रक पर शिव तांडव नृत्य करते हुये भक्तजन तथा मुंड की माला पहने श्रद्धालु शामिल हुए । पुरे रास्ते बाबा मशान नाथ का जयकारा गुंजता रहा । सबसे ख़ास बात यह है कि उत्सव में मग्न होने के बावजूद सोशल डिस्टेंसिंग का बेहतरीन तरीके से ख्याल रखा गया ।

 

शोभायात्रा में समिति के संरक्षक उत्तर प्रदेश शासन, लखनऊ के प्रमुख सचिव राजन शुक्ला, हर्षित शुक्ला, केशव जालान, निधि देव अग्रवाल, बहादुर चौधरी, पवन कुमार चौधरी, गोपाल प्रसाद, जय कुमार, विकास रावत, वीरेश मिश्रा, विशाल सिंह, मनीष सिंह, माधुरी प्रजापति, नीलम मौर्या, अंशुमान जायसवाल, बाबू यादव, बच्चा बाबू, सतीश चौधरी सहित पदाधिकारी तथा सदस्यों के साथ काशीवासी भी हिस्सा लिये ।

 

Load More In उत्तर प्रदेश
Comments are closed.