Home उत्तर प्रदेश सीएम योगी का बड़ा आदेश, अब यूपी में नहीं देना होगा अंतिम संस्कार पर कोई शुल्क, होगा पालन…

सीएम योगी का बड़ा आदेश, अब यूपी में नहीं देना होगा अंतिम संस्कार पर कोई शुल्क, होगा पालन…

2 second read
0
444

नई दिल्ली : राज्य में लगातार बढ़तो कोरोना संक्रमण से होने वाले मौत के आंकड़ों के बीच सीएम योगी को कोई शिकायत मिलें थे कि अंतिम संस्कार के नाम पर शवदाह गृह या श्मशान घाटों द्वारा पीड़ितों से मनमाफिक पैसा वसूला जा रहा है। इस मामले में संज्ञान लेते हुए सीएम योगी ने कहा है कि शव की अंत्येष्टि के लिए अवैध वसूली अमानवीय है.

सीएम योगी ने राज्य के सभी अधिकारियों को यह निर्देश दिया है कि अब उत्तर प्रदेश में कोविड संक्रमित मरीजों के अंतिम संस्कार के लिए कोई शुल्क नहीं देना होगा। वहीं सभी नगरीय अथवा ग्रामीण अंत्येष्टि स्थलों पर कोविड मरीजों का अंतिम संस्कार उनकी धार्मिक मान्यता के अनुसार कोविड प्रोटोकॉल का पालन करते हुए कराया जाए। इसके लिए मृतक के परिजनों से किसी प्रकार का शुल्क न लिया जाए।

सीएम योगी ने कहा कि अगर ऐसी घटनाएं हुईं तो संबंधित जिम्मेदार अधिकारियों के विरुद्ध कार्रवाई होगी। मृतक के शरीर को अंत्येष्टि स्थल तक लाने के लिए प्रशासन वाहन उपलब्ध कराए। इसके लिए सभी जिलों में वाहन का प्रबंधन होना चाहिए। आपको बता दें कि इस महामारी से लड़ने को लेकर केंद्र सरकार ने 30 अप्रैल तक के लिए यूपी को रेमडिसीवीर के 1,61,000 वॉयल का आवंटन किया है।

बता दें कि इससे पहले इस अवधि तक के लिए यूपी को करीब 1,22000 वॉयल का आवंटन किया गया था। सीएम योगी ने आवंटन बढ़ाने पर संतोष जताते हुए कहा कि रेमडिसीवीर जैसी जीवनरक्षक दवा की आपूर्ति प्रदेश में सुचारु है। हर दिन लगभग 18,000-20,000 वॉयल प्रदेश को प्राप्त हो रही है। उन्होंने निर्देश दिए कि विभिन्न दवा निर्माता कम्पनियों से सीधे संवाद स्थापित करते हुए इस जीवनरक्षक मानी जा रही दवा की पर्याप्त उपलब्धता सुनिश्चित कराई जाए।

वहीं कोविड-19 के मरीजों के लिए कामयाब मानी जा रही जायडस कैडिला कम्पनी की नई दवा ‘विराफीन’ प्रदेश के तीन जिलों में जल्द ही मुहैया हो जाएगी। इसे लखनऊ, प्रयागराज और वाराणसी जिलों के लिए उपलब्ध कराया जाए। ऐसा माना जा रहा है कि अगले कुछ दिनों में इन तीनों जिलों के एक-एक कोविड अस्पताल में यह नई दवा उपलब्ध होगी.। अब देखना यह है कि यह दवा कब तक इन क्षेत्रों में पहुंच पाता है।

Load More In उत्तर प्रदेश
Comments are closed.