1. हिन्दी समाचार
  2. विदेश
  3. तूफान ‘ईडा’ के सामने बेबस हुआ अमेरिका, डूबीं मेट्रो लाइनें, सड़कों पर तैर रहीं कारें; 41 लोगों की मौत

तूफान ‘ईडा’ के सामने बेबस हुआ अमेरिका, डूबीं मेट्रो लाइनें, सड़कों पर तैर रहीं कारें; 41 लोगों की मौत

तूफान ‘ईडा’ के सामने अमेरिका पूरी तरह बेबस नजर आ रहा है। तूफान के प्रभाव से भारी बारिश के कारण नदियों का जलस्तर बढ़ गया है। इसके बाद आयी बाढ़ के कारण सड़कें तालाब बन गई हैं। सबवे पर ऐसा नजारा है मानो झरने बह रहे हों। कई इलाकों में बिजली आपूर्ति पूरी तरह से ठप पड़ गई।

By Amit ranjan 
Updated Date

नई दिल्ली : तूफान ‘ईडा’ के सामने अमेरिका पूरी तरह बेबस नजर आ रहा है। तूफान के प्रभाव से भारी बारिश के कारण नदियों का जलस्तर बढ़ गया है। इसके बाद आयी बाढ़ के कारण सड़कें तालाब बन गई हैं। सबवे पर ऐसा नजारा है मानो झरने बह रहे हों। कई इलाकों में बिजली आपूर्ति पूरी तरह से ठप पड़ गई। न्यूज एजेंसी AFP की रिपोर्ट के अनुसार, न्यूयॉर्क में तूफान के बाद भारी बारिश से बाढ़ जैसे हालात हैं। मेट्रो लाइनें डूब गई हैं और सड़कों पर कारें बह रही हैं। अब तक कम से कम 41 लोगों की मौत हो चुकी है।

न्यूयॉर्क की गवर्नर केथी होचुल ने बताया कि भारी बारिश से हालात काफी खराब हो गए हैं। सड़कें तालाब बन गई हैं, प्रभावितों को मदद के इंतजाम किए जा रहे हैं। राष्ट्रीय मौसम सेवा ने न्यूयॉर्क सिटी में पहली बार बाढ़ को लेकर आपात अलर्ट जारी किया है। उधर, न्यूजर्सी के गवर्नर फिल मर्फी ने बताया कि कम से कम 23 लोगों की मौत हुई है। उन्होंने कहा कि, ‘इन मौतों में से अधिकांश ऐसे थे जो अपने वाहनों में फंस गए थे।’

पुलिस ने बताया कि न्यूयॉर्क सिटी में 13 लोग मारे गए हैं जिनमें से 11 लोग बेसमेंट अपार्टमेंट में पानी घुसने के कारण मारे गए हैं। उपनगर वेस्टचेस्टर काउंटी में तीन लोगों की जान गई है। अधिकारियों ने बताया कि पेन्सिलवेनिया में कम से कम पांच लोगों की जान गई है जिसमें तूफान के कारण गिरे एक पेड़ की चपेट में आने से एक व्यक्ति की जान चली गई जबकि अन्य व्यक्ति अपनी पत्नी को सुरक्षित निकालने में मदद के दौरान कार के डूबने से मारा गया।

वेबसाइट ‘डब्ल्यूपीवीआई’ के मुताबिक, बारिश और बाढ़ के कहर के बीच न्यूजर्सी के ग्लूसेस्टर काउंटी को बवंडर का भी सामना करना पड़ा है। इसके चलते इलाके के सैकड़ों मकान क्षतिग्रस्त हो गए। पेसेक की मेयर हेक्टर लोरा ने बताया कि बाढ़ में कार बहने से एक व्यक्ति की मौत हो गई। वहीं, नौ लोगों के शव अपार्टमेंट के बेसमेंट से बरामद हुए हैं। बारिश से आई आकस्मिक बाढ़ से पेनसिल्वेनिया में तीन, जबकि मैरीलैंड और कनेक्टिकट में एक-एक मौत होने की खबर है। हर तरफ पानी ही पानी नजर आ रहा है। मेट्रो स्टेशन पर झरने बह रहे हैं।

बिगड़ते हालात को देखते हुए न्यूयॉर्क और न्यूजर्सी में आम लोगों को घरों से बाहर नहीं निकलने का निर्देश दिया गया है। दोनों प्रांतों में इमरजेंसी वाहनों के अलावा किसी भी अन्य गाड़ी को सड़क पर उतरने की इजाजत नहीं है।

खराब मौसम के चलते न्यूजर्सी में ट्रांजिट रेल सेवा अगले आदेश तक निलंबित कर दी गई है। वहीं, नेवार्क लिबर्टी एयरपोर्ट पर पानी भरने के कारण सभी यात्री उड़ानें रोक दी गई हैं। उधर, न्यूयॉर्क में भी प्रशासन ने सबवे सेवाएं निलंबित कर दी हैं। सबवे में पानी भर गया है, जो लोग अंदर फंसे हैं उन्हें निकालने का काम चल रहा है।

वहीं, 172 मील प्रति घंटे की रफ्तार से आया ईडा तूफान लुइसियाना में भी भारी तबाही के निशान छोड़ गया है। यहां अधिकांश इलाकों की सड़कें तालाब बन गई हैं। पेड़ों और इमारतों के मलबे के चलते यातायात बहाल नहीं हो सका है। बिजली आपूर्ति भी ठप बताई जा रही है।

हालात ये हो गए हैं कि बचाव दल को लोगों को बचाने के लिए नाव का इस्तेमाल करना पड़ रहा है। जिन सड़कों पर कल तक तेज रफ्तार गाड़ियां चला करती थीं, आज वहां नाव चल रही है और कारें नाव के माफिक तैर रही हैं। वहीं, मैनहट्टन सहित न्यू जर्सी और न्यूयॉर्क नगरों में बाढ़ ने प्रमुख सड़कों को बंद कर दिया है।

मौसम विभाग का कहना है कि खतरा अभी टला नहीं है। बारिश जारी रहने की संभावना लगातार बनी हुई है। लोगों से घरों पर ही रहने को कहा गया है। कुछ इलाकों में जहां बाजार खुले थे, वहां भी अब सन्नाटा पसर गया है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...