Home उत्तर प्रदेश दो CO समेत 10 गाड़ियों का काफिला मुख़्तार अंसारी को लाने पंजाब रवाना, सुरक्षा के कड़े इंतजाम

दो CO समेत 10 गाड़ियों का काफिला मुख़्तार अंसारी को लाने पंजाब रवाना, सुरक्षा के कड़े इंतजाम

1 second read
0
220

रिपोर्ट: सत्यम दुबे

प्रयागराज: सुप्रीम कोर्ट में मुख्तार अंसारी मामले में योगी सरकार की जीत के बाद रविवार को पंजाब सरकार ने यूपी सरकार को पत्र लिखकर मुख्तार को यूपी ले जाने की बात कही थी। सोमवार को यूपी सरकार ने दो CO समेंत 100 पुलिसकर्मीयों को पंजाब रवाना कर दिया है। इसके आलावा एक ट्रक पीएसी के जवान भी इस टीम में शामिल हैं। इसके साथ ही साथ ही एक एम्बुलेंस में जिला अस्पताल के वरिष्ठ डॉक्टर एसडी त्रिपाठी के साथ स्वास्थ्य विभाग की टीम भी मौजूद है।

आपको बता दें कि मिली जानकारी के मुताबिक वज्र वाहन के साथ पुलिस की करीब दस गाड़ियों का काफिला मुख्तार को लाने निकली हैं। मुख्तार अंसारी से संबंधित इतनी ही जानकारी मिल पायी है। सुरक्षा की दृष्टि से और प्रशासन ने और कोई जानकारी साझा नहीं की है।

न्यायालय के आदेश के बाद 8 अप्रैल तक मुख्तार अंसारी को बांदा सेंट्रल जेल में शिफ्ट करना है। जिसको लेकर रविवार को पंजाब पुलिस की तरफ से यूपी पुलिस को पत्र भेजकर मुख़्तार को ले जाने की बात कही थी। आपको बता दें कि साल 2019 में  रंगदारी से जुड़े एक मामले में पंजाब पुलिस बांदा जेल से लेकर गई थी।  लेकिन उसके बाद से वह लगतार पैतरेबाजी के सहारे यूपी आने से बचता रहा।

इस दौरान दो साल में आठ बार यूपी पुलिस की टीम पंजाब के रोपड़ जेल पहुंची, लेकिन हर बार उसके ख़राब सेहत का हवाला देकर पंजाब पुलिस ने मुख़्तार को सौंपने से इनकार कर दिया। यूपी पुलिस के आठ बार बैरंग वापस आने के बाद योगी सरकार ने मुख़्तार के खिलाफ दर्ज मामले की सुनवाई में देरी को लेकर सुप्रीम कोर्ट दरवाजा खटखटाया था।

यूपी सरकार ने सुप्रीम कोर्ट से यूपी वापस लाने की अनुमति मांगी थी। मामले की सुनवाई करते हुए सर्वोच्च न्यायालय ने 12 अप्रैल तक मुख्तार अंसारी को यूपी भेजने का आदेश दिया था।

चित्रकूट धाम मंडल के आईजी सत्यनारायण ने बताया कि मुख्तार अंसारी को लाने के लिए टीम का गठन किया गया है। चित्रकूट धाम मंडल के चारों जनपदों में से पुलिसकर्मी भेजे जाएंगे और वही पुलिसकर्मी पंजाब की रोपड़ जेल से मुख्तार अंसारी को बांदा जेल तक पहुंचाएंगे।

इसको ध्यान में रखते हुए बांदा जेल की सुरक्षा को बढ़ा दिया गया है। जेल में एक अतिरिक्त चौकी बनाई गई है और एक पीएचई पीएसी की बटालियन भी तैनात की गई है। उसके साथ ही पुलिसकर्मियों को अंदर और बाहर तक चप्पे-चप्पे पर लगाया गया है।

Load More In उत्तर प्रदेश
Comments are closed.