Home मनोरंजन जब लाल बहादुर शास्त्री को सबके सामने मांगनी पड़ी थी इस अदाकारा से मांफी, मशहूर हो गया था किस्सा

जब लाल बहादुर शास्त्री को सबके सामने मांगनी पड़ी थी इस अदाकारा से मांफी, मशहूर हो गया था किस्सा

2 second read
0
27

रिपोर्ट: गीतांजली लोहनी

नई दिल्ली: ब्लैक एंड व्हाइट दौर में अपनी अदाओं और नजाकत से लाखों लोगों का दिल चुराने वाली हिंदी सिनेमा की मशहूर अभिनेत्री मीना कुमारी का भी एक जमाना था। जब वो ट्रेजिडी क्वीन के नाम से जानी जाती थी और उनकी फिल्मों में उनकी जबरदस्त एक्टिंग को देखने के लिए हजारो लोगों की भीड़ उमड़ जाया करती थी। उनके बचपन से लेकर फिल्मी सफर, प्यार से लेकर शादीशुदा जिंदगी का सफर और शराब की लत लगने तक मीना कुमारी यूं तो मीना कुमारी के कई किस्से मशहूर है लेकिन उनका एक किस्सा ऐसा भी है जो इन सब से अलग था और काफी मशहूर हुआ था।  जी हां ये किस्सा था जब देश के प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री ने अदाकार मीना कुमारी से माफी मांगी थी। तो चलिए जानते है आखिर क्या हुआ था-

दरअसल मीना कुमारी ने सन् 1939 से 1972 तक फिल्मों में काम किया और वो उनका सुनहरा वक्त था। उस वक्त हर किसी जुबान पर बस मीना कुमारी ही छाई हुई थीं और सिनेमाघरों में उनकी एक के बाद एक फिल्में हिट हो रही थी। लेकिन इसके बाद भी देश के प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री मीना कुमारी को पहचान नहीं पाए थे। असल में हुआ ये था कि लाल बहादुर शास्त्री को मुंबई के एक स्टूडियो में फिल्म ‘पाकीजा’ की शूटिंग देखने के लिए बुलाया गया था। उस वक्त महाराष्ट्र के तत्कालीन मुख्यमंत्री की ओर से इस निमंत्रण में आने का इतना दबाव था कि देश के प्रधानमंत्री ना नहीं कह पाए और शूटिंग देखने के लिए स्टूडियो पहुंच गए।

बता दें कि कुलदीप नैयर ने अपनी किताब ‘ऑन लीडर्स एंड आइकॉन: फ्रॉम जिन्नाह टू मोदी’ में इस बात का जिक्र करते हुए लिखा था कि, ‘उस वक्त वहां कई बड़े सितारे मौजूद थे। मीना कुमारी ने जैसे ही लाल बहादुर शास्त्री को माला पहनाई। शास्त्री जी ने बड़ी ही विनम्रता से मुझसे पूछा- यह महिला कौन है। मैंने हैरानी जताते हुए उनसे कहा कि मीना कुमारी। शास्त्री ने अपनी अज्ञानता व्यक्त की। फिर भी मैंने उनसे सार्वजनिक तौर पर इसे स्वीकार करने की अपेक्षा कभी नहीं की थी।’

इसके आगे कुलदीप नैयर लिखते है कि, ‘मैंने कभी नहीं सोचा था कि शास्त्री जी यह बात पब्लिक में पूछेंगे। हालांकि मैं शास्त्री जी के इस भोलेपन और ईमानदारी से बेहद प्रभावित हुआ था। बाद में लाल बहादुर शास्त्री ने अपनी स्पीच में मीना कुमारी को संबोधित करते हुए कहा था, मीना कुमारी जी, मुझे माफ कीजिएगा। मैंने आपका नाम पहली दफा सुना है।’

 

अब सार्वजनिक तौर पर देश के प्रधानमंत्री का अभिनेत्री से इस बात के लिए माफी मांगना लोगों को काफी अच्छा लगा था। लेकिन उस वक्त लाखों दिलों पर राज करने वालीं मीना कुमारी के चेहरे पर शर्मिंदगी का भाव एकदम साफ झलक आ रहा था।

बता दें कि मीना कुमारी ने  महज 7 साल की उम्र से ही फिल्मों में काम करना शुरू कर दिया था। इसके बाद उनकी झोली में एक से बढ़कर एक फिल्में आईं और उन्होंने अपने शानदार अभिनय से लोगों के दिलों में खास जगह बनाई। अभिनेत्री ने अपनी जिंदगी के 33 साल सिनेमा को दिए थे। हिंदी सिनेमा में मीना कुमारी एक ऐसा नाम था जो हर किसी की जुबान पर रटा पड़ा था। लेकिन बावजुद इसके देश के प्रधानमंत्री का उनको ना पहचान पाना थोड़ा अजीब तो महसूस करायेगा ही, खैर मीना कुमारी वो अदाकारा थी जिनको आज के जमाने में भी कोई टक्कर देने वाला हिंदी सिनेमा में आजतक नहीं आया है।

Load More In मनोरंजन
Comments are closed.