Home मनोरंजन जब नशे में धुत राज कपूर अपने पिता से कहते थे…“ओ आवारा के बाप- ओ श्री 420 के बाप”, जानें क्या करते थे पिता…

जब नशे में धुत राज कपूर अपने पिता से कहते थे…“ओ आवारा के बाप- ओ श्री 420 के बाप”, जानें क्या करते थे पिता…

0 second read
0
9

रिपोर्ट: गीतांजली लोहनी

नई दिल्ली: हिंदी सिनेमा में कपूर फैमिली का बोल बाला रहा है। या अगर हम यूं कहे कि कपूर फैमिली के बिना हिंदी सिनेमा अधूरी है तो भी कुछ गलत नहीं होगा । क्योंकि कपूर परिवार की कई पीढ़िया हिंदी सिनेमा से जुड़ी हुई है। तो चलिए आज हम आपको कपूर फैमिली से जुड़ा एक किस्सा आपको सुनाते है जिसे पढ़कर आपको भी हंसी छूट जाएगी।

दरअसल, शो मैन राज कपूर अपने पिता पृथ्वीराज कपूर से काफी डरा करते थे। अपने पिता के सामने राज कपूर ने कभी शराब और सिगरेट को हाथ तक नहीं लगाया। लेकिन पिने के बाद राज कपूर क्या करते थे ये आप जानेंगे तो आपको बड़ी हंसी आएगी।

राज कपूर जब भी शराब पीते तो इतना पी लेते थे कि लड़खड़ाते हुए घर पहुंचते थे। घर के बाहर अपनी गाड़ी पार्क करने के बाद छिपते छिपाते अपने घर के अंदर जाने के बजाय राज कपूर घर के नीचे खड़े होकर अपने पिता को आवाज लगाया करते थे। और पृथ्वीराज कपूर ऊपरी मंजिल में रहा करते थे । और राज कपूर तो भई नशे में धुत रहते थे और अपने पिता को आवाज लगाते हुए जोर–जोर से चिल्लाकर कहते थे कि, ओ आवारा के बाप….ओ श्री 420 के बाप… और ये आवाज सुनकर जैसे ही पृथ्वीराज कपूर बॉलकनी में आते तो उनके बेटे यानि राज कपूर कहते कि, “आप कभी नीचे मत आना लेकिन मैं अपनी जिंदगी में आपकी ऊंचाई तक जरुर पहुंच कर दिखाऊंगा।”

बता दें कि राज कपूर अपने पिता से जिस ऊंचाई में आने की बात करते थे वो किसी बिल्डिंग की नहीं बल्कि पृथ्वीराज कपूर के अभिनय और उनकी शख्सियत की थी। पृथ्वीराज कपूर अपने एक हाथ में किताब  और दूसरे हाथ पाइप लिये राज कपूर सारी बात सुनकर बस मंद ही मंद मुस्कुरा कर वापस अपने कमरे में चले जाया करते थे।

बताते चलें कि ये सिलसिला एक बार नहीं बल्कि कई बार होता था । और अगले दिन सुबह राज कपूर अपने पिता से मिले बिना ही घर से घायब हो जाया करते थे इस डर से कि उन्हें डांट ना पड़ जाये। तो कैसा लगा आपको ये किस्सा जहां एक बेटा अपने पिता को इस अनोखे ढंग से अपने दिल की बात कहा करता था।

Load More In मनोरंजन
Comments are closed.