1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. जब CM योगी ने भाषण के दौरान जनता से पूछा कि अपराधियों की ‘छाती’ पर बुल्डोवजर चलना चाहिए कि नहीं?, जानें क्या बोला लोगों ने

जब CM योगी ने भाषण के दौरान जनता से पूछा कि अपराधियों की ‘छाती’ पर बुल्डोवजर चलना चाहिए कि नहीं?, जानें क्या बोला लोगों ने

By RNI Hindi Desk 
Updated Date

रिपोर्ट: सत्यम दुबे

गोरखपुर: CM योगी आदित्यनाथ सोमवार को गोरखपुर पहुंचे हैं। यहां सीएम योगी ने अपराधियों के खिलाफ अपनी सरकार की ऑपरेशन क्‍लीन नीति को लेकर बात की। मंच से संबोधित कर रहे जनता से सवाल किया कि सरकार को अपराधियों की छाती पर बुलडोजर चलना चाहिए कि नहीं? सीएम के इस सवाल पर जनता ने बड़े जोश में हां कहा। इसके बाद उन्‍होंने फिर पूछा कि सरकार की इस कार्रवाई का विरोध तो नहीं कर रहे? जनता का समर्थन तो है ना? तो फिर  लोगों ने हां में जवाब दिया। कुछ ने जय श्रीराम के नारे भी लगाए। इसके बाद मुख्‍यमंत्री ने कहा कि सरकार अपराधियों और उपद्रवियों की संपत्ति कब्जे में लेकर उसे गरीबों में बांट रही है।

सीएम योगी ने कहा कि सरकार का बुजडोजर अपराधियों की छाती को रौंद रहा है। हमारी सरकार में विकास भी होगा और विनाशकारी तत्वों के खिलाफ सख्त कार्रवाई भी। सीएम योगी राप्ती नदी के मलौनी बांध पर स्थित तरकुलानी रेगुलेटर के पास रेगुलेटर और वन निर्मित पम्पिंग स्टेशन के लोकार्पण समारोह को संबोधित कर रहे थे। उन्‍होंने ऐलान किया कि सूबे के 50 हजार राजस्व ग्रामों में दिसंबर तक जल जीवन मिशन के तहत ‘हर घर नल से शुद्ध पेयजल’ परियोजना शुरू हो जाएगी।

इसके साथ ही उन्होंने कहा कि बुंदेलखंड और विन्ध क्षेत्र में परियोजना पर काम शुरू हो चुका है। घर घर शुद्ध पेयजल की उपलब्धता से इंसेफेलाइटिस जैसी बीमारी से भी निजात दिलाएगी। यह योजना गंदगी और अशुद्ध पेयजल दोनों की समस्याओं को निराकरण कर देगी। CM योगी के साथ कार्यक्रम में केंद्रीय जल शक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत और प्रदेश के जल शक्ति मंत्री डॉ महेंद्र सिंह भी मौजूद रहे। उन्‍होंने तरकुलानी में 172 करोड़ की 30 परियोजनाओं का लोकार्पण किया। इसके अलावा 39.65 करोड़ की 15 परियोजनाओं का शिलान्यास किया। लोकार्पित होने वाली परियोजनाओं में गोरखपुर मंडल में बाढ़ नियंत्रण की 145 करोड़ से अधिक की 10 परियोजनाएं भी शामिल रहीं। इसमें 10 सड़कें, 02 उपरगामी सेतु और 6 विद्यालय निर्माण के कार्य शामिल हैं।

सीएम योगी ने विकास कार्यो का जिक्र करते हुए कहा कि जब डबल इंजन की सरकार होती है तो विकास कार्यो की रफ्तार कई गुना बढ़ जाती है। केंद्र एवं प्रदेश में भाजपा की सरकार है, डबल इंजन की सरकार कई गुना स्पीड से लोगों के जीवन में खुशहाली ला रही है।

CM योगी ने तरकुलानी रेगुलेटर और निर्मित पंपिंग स्टेशन की आवश्यकता का उल्लेख करते हुए कहा कि 2009 में जब से यह क्षेत्र गोरखपुर संसदीय क्षेत्र में आया तब से यहां पंपिंग स्टेशन की मांग की जा रही थी। यह परियोजना 50 हजार परिवारों की 2 लाख की आबादी को बीमारी से बचाएगी। सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि आज से पम्पिंग स्टेशन अपनी सेवाएं शुरू कर देगा। इसकी क्षमता यह है कि रामगढ़ताल में जितना पानी है, यह पंपिंग स्टेशन उसे एक घण्टे में उड़ेलकर फेंक देगा। तरकुलानी रेगुलेटर पर पंपिंग स्टेशन की यह परियोजना क्षेत्र में खेती बचाने में मदद करेगी। किसान अब रबी और खरीफ दोनों फसल ले पाएंगे। खोराबार ब्लॉक इंसेफेलाइटिस से सर्वाधिक प्रभावित क्षेत्रों में शामिल रहा है। पंपिंग स्टेशन न होने से यहां जलजमाव से बीमारियां होती थीं। तरकुलानी का यह पंपिंग स्टेशन जलजमाव की समस्या का समाधान करेगा। उन्होंने कहा कि इसलिए जब एम्स की स्थापना की बात आई तो उन्होंने खोराबार के निकट का एक्स के निर्माण के लिए स्थान चुना।

सीएम योगी ने घोषणा किया कि 1990 में बंद गोरखपुर का खाद कारखाना बनकर लगभग तैयार है। अक्टूबर तक पूरी तरह बन कर तैयार हो जाएगा। उसके बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हाथों इसका लोकार्पण कराएंगे। उन्होंने अक्तूबर में विश्व स्तरीय चिकित्सा सुविधाओं वाले एम्स के पीएम मोदी के हाथों उद्घाटन किए जाने की जानकारी भी दी। गोरखपुर में विकास कार्यो को गिनाते हुए सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि रामगढ़ताल कभी अपराधियों का अड्डा होता था, अब पर्यटन केंद्र बन चुका है। अपनी सुंदरता में यह मुम्बई को भी फेल कर देगा। अब वहां फिल्मों की शुटिंग की जाती है।

कार्यक्रम में गोरखपुर के सांसद रविकिशन शुक्ल, राज्यसभा सदस्य जयप्रकाश निषाद, सांसद कमलेश पासवान, विधायक बिपिन सिंह, विधायक फतेह बहादुर सिंह, विधायक संगीता यादव, पूर्व मंत्री राजेश त्रिपाठी, अपर मुख्य सचिव सिंचाई टी वेंकटेश, प्रमुख अभियंता सिंचाई अशोक सिंह, मंडलायुक्त रवि कुमार एनजी, जिलाधिकारी के विजयेंद्र पांडियन, भाजपा के क्षेत्रीय अध्यक्ष डॉ धर्मेंद्र सिंह मंच पर उपस्थित रहे।

इसके साथ ही बाढ़ के पानी से 47 गांवों को बचाने के लिए रेगुलेटर का विस्तार एवं पंपिंग स्टेशन बनवाने के लिए CM योगी ने सांसद रहते हुए संघर्ष किया था। सड़क से सदन तक आवाज उठाई। 2017 में मुख्यमंत्री बने तो तीन माह बाद ही केंद्रीय जल आयोग से इसकी स्वीकृति दिलाई। 1 फरवरी 2018 से निर्माण कार्य शुरू कराया और सोमवार को करीब 85 करोड़ की लागत से बने इस पंपिंग स्टेशन का लोकार्पण कर दिया। 2838 हेक्टेयर कृषि भूमि भी इससे लाभान्वित होगी। एक सीजन में जलमग्न रहने वाली भूमि पर किसान अब दोनों सीजन के फसलों को उगा सकेंगे। तरकुलानी रेगुलेटर प्रोजेक्ट के तहत निर्मित पंपिंग स्टेशन में 11 अदद 30 क्यूसेक पंप, 3 अदद 10 क्यूसेक पंप, 5 अदद 625 केवीए डीजल जेनरेटर सेट, सक्शन टैंक की व्यवस्था है। इसके फीडर चैनल की लंबाई 280 मीटर है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...
RNI News Ads