1. हिन्दी समाचार
  2. मीडिया जगत
  3. राष्ट्रीय प्रेस दिवस पर बोले केंद्रीय मंत्री : चैनल्स को जवाबदेह बनाने के लिए आचार संहिता बनाने के सुझाव आए

राष्ट्रीय प्रेस दिवस पर बोले केंद्रीय मंत्री : चैनल्स को जवाबदेह बनाने के लिए आचार संहिता बनाने के सुझाव आए

By RNI Hindi Desk 
Updated Date

राष्ट्रीय प्रेस दिवस पर भारतीय प्रेस परिषद की और से एक वेबिनार का आयोजन किया गया था जिसमें केंद्रीय मंत्री ने भी अपनी बात रखी है।

उन्होंने कहा, न्यायाधीश ए.के. सीकरी की अध्यक्षता में न्यूज चैनल्स को विनियमित करने के लिए एक एजेंसी का गठन किया गया है, लेकिन कई चैनल्स इसके सदस्य नहीं हैं। न्यूज चैनल्स को जवाबदेह बनाने के लिए आचार संहिता बनाने के सुझाव आए हैं।

जावड़ेकर ने कहा कि प्रेस की आजादी बहुत महत्वपूर्ण है। इसमें कोई दो राय नहीं है कि अपनी बात रखने की आजादी होनी चाहिए लेकिन किसी को जानबूझकर बदनाम नहीं करना चाहिए। लिहाजा टेलीविजन मीडिया के पास अपना नियामक निकाय होना चाहिए।

जावड़ेकर ने कहा कि प्रेस की स्वतंत्रता बहुत महत्वपूर्ण है लेकिन कोई भी स्वतंत्रता जिम्मेदारी के साथ आती है।

इसलिए, प्रेस को स्वतंत्र होकर जिम्मेदारी के साथ काम करना चाहिए और किसी चीज को सनसनीखेज नहीं बनाना चाहिए।

उन्होंने कहा, खबर किसी को जानबूझकर बदनाम करने के लिए नहीं होनी चाहिए। हालांकि उन्‍होंने यह भी कहा कि इन दिनों जिस तरह से प्रेस की स्वतंत्रता पर हमला किया जा रहा है वह ठीक नहीं है।

टीआरपी मामले पर केंद्रीय मंत्री ने कहा कि मंत्रालय द्वारा गठित समिति जल्‍द इसकी जांच कर अपनी रिपोर्ट देगी।

उन्होंने कहा, ‘टीआरपी हेरफेर की जांच करने और इस समस्या का समाधान करने के लिए, हमने एक समिति बनाई है जो बहुत जल्द अपनी रिपोर्ट देगी।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...