Home देश ऑक्सीजन की कमी को पूरा करने के लिए तमिलनाडु सरकार ने चलाया 2018 में बंद पड़ा प्लांट, बढ़ सकता है विवाद

ऑक्सीजन की कमी को पूरा करने के लिए तमिलनाडु सरकार ने चलाया 2018 में बंद पड़ा प्लांट, बढ़ सकता है विवाद

0 second read
0
13

नई दिल्ली : पर्यावरण प्रदूषण के चलते स्थानीय लोगों के भारी विरोध प्रदर्शन के बाद जिस प्लांट को बंद किया गया था, उसे अब लोगों के ऑक्सीजन को पूरा करने के लिए चालू कर दिया गया। जिससे एक बार फिर विवाद बढ़ने की संभावना है। लेकिन तमिलनाडु सरकार का कहना है कि उन्होंने ये कदम कोरोना महामारी के कारण होने वाले ऑक्सीजन की समस्या से छुटकारा पाने के लिए ये कदम उठाया है। जिससे अधिक मात्रा में ऑक्सीजन का उत्पादन हो सकें।

आपको बता दें कि देश में कोरोना महामारी के चलते रोजाना जा रही सैकड़ों जानें और ऑक्सीजन की भारी किल्लत के बीच तमिलनाडु की सरकार ने बड़ा फैसला लेते हुए थुथुकुडी स्थित वेदांता के स्वामित्व वाले स्टरलाइट प्लांट को चालू करने की इजाजत दे दी है। इसे आंशिक तौर पर सिर्फ चार महीने के लिए चालू करने की इजाजत मिली है, और इस दौरान सिर्फ ऑक्सीजन का उत्पादन किया जाएगा।

गौरतलब है कि पर्यावरण प्रदूषण के चलते स्थानीय लोगों के भारी विरोध प्रदर्शन के बाद साल 2018 में इस प्लांट को बंद करना पड़ा था। अब तमिलनाडु सरकार की तरफ से यह फैसला ऐसे वक्त पर लिया गया हैं जब लगातार कोरोना के मामले बढ़ रहे हैं।

Load More In देश
Comments are closed.