Home क्राइम प्रेम जाल में फंसकर एक ही लड़के के लिए तीन लड़कियां घर से भागी, दो से किया शादी तीसरी को…

प्रेम जाल में फंसकर एक ही लड़के के लिए तीन लड़कियां घर से भागी, दो से किया शादी तीसरी को…

2 second read
0
1,078

रिपोर्ट: सत्यम दुबे

बालोद: सोशल मीडिया पर बिछाये जाल में फंस रही लड़कियां, घर छोड़ भागने से भी नहीं चूक रही हैं। ताजा मामला छत्तिसगढ़ के बालोद जिले से सामने आया है। जिले में लड़कियों के गुमशुदा होने के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। अंजान नम्बर से आए कॉल एवं फेसबुक रिक्वेस्ट स्वीकार कर लड़कियां प्रेमजाल में फंस रही हैं।

आपको बता दें कि जिले के रनचिरई थाना क्षेत्र में गुमशुदगी के तीन एक जैसे ही मामले सामने आए हैं, जिनमें लड़कियां घर छोड़कर भागी। बालोद पुलिस मामले की गंभीरता को देखते हुए जॉच शुरु की और तीनो लड़कियों को इंदौर और अहमदाबाद से बरामद कर लिया है। पुलिस ने मामले में 7 लोगों को गिरफ्तार किया है।

गिरफ्तार हुए सभी के खिलाफ पुलिस ने धारा-360, 368, 368, 370 ए (2), 376(2) एन, जे ए 420, 323, 506, 34 के तहत मामला दर्ज किया है। वहीं दूसरी ओर बालोद पुलिस अधिक्षक ने सभी से अपील की है कि अंजान व्यक्तियों का फोन आए तो सतर्क रहें। अंजान व्यक्तियों के बहकावे में न आएं बल्कि नजदीकी थाने में जाकर पुलिस को बताएं।

SSP डीआर पोर्ते ने बताया कि रनचिरई थाना में 2020 में एक लड़की के पास आरोपी निहाल सिंह ने लड़की के मोबाइल नम्बर में मिस्ड कॉल किया। इसके बाद लड़की ने दोबारा फोन लगाया। फिर फेसबुक में आए फ्रेंड रिक्वेस्ट को स्वीकार किया। दोनों के बीच जान पहचान हो गई। एक-दूसरे से प्रेम करने लगे।साल 2020 में लड़की, लड़के साथ घर से भाग गई।

आपको बता दें कि हद तो तब हो गई जब आरोपी निहाल सिंह ने अपनी प्रेमिका की सहेली को भी प्रेमजाल में फंसा लिया। इसके बाद वह दूसरी लड़की से बात करने लगा। इसकी पहचान पहले लड़की जो इस लड़की की सहेली थी उसके मोबाइल फोन से उसका नम्बर मिला, उससे बातचीत शुरू हुई। आरोपी प्रेमिका की सहेली को ज्यादा पसंद करने लगा। ऐसे में पहली लड़की से शादी करने के बाद भी उसे अहमदाबाद में अपने दोस्त मुकेश पाल के साथ भेज दिया। दूसरी लड़की को भी पत्नी बनाकर रखने लगा। यह लड़की फरवरी में घर छोड़कर आरोपी के पास चली गई।

सिलसिला यहीं नहीं थमा बल्कि आरोपी निहाल ने तीसरी लड़की को अपनी दूसरी प्रेमिका से मिले नम्बर के तहत नौकरी दिलाने के नाम पर बुलाया। दोनों को अपने साथ एक किराए के मकान में रखने लगा। तीनों लड़कियों के परिजनों ने इस मामले पर गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई थी। मामले की गम्भीरता को देखते ही तत्काल पुलिस एक्शन में आ गई। पुलिस अधिक्षक जितेंद्र सिंह मीणा ने टीम बनाई और मुखबिर व परिजनों की सूचना पर टीम भेजी।

आपको बता दें कि इस मामले में पुलिस ने निहाल सिंह, निलेश सिंह राजपूत, अजय जाटव, अभिषेक, विनोद जाटव, गीता राजपूत, मुकेश पाल, जितेन्द्र सोलंकी को गिरफ्तार किया है। कोर्ट ने आरोपियों को न्यायिक रिमांड भेज दिया है।

 

Load More In क्राइम
Comments are closed.