Home Breaking News राजधानी दिल्ली में दोबारा नहीं लगेगा लॉकडाउन, स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने दिया जवाब, पढ़े

राजधानी दिल्ली में दोबारा नहीं लगेगा लॉकडाउन, स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने दिया जवाब, पढ़े

2 second read
0
1

राजधानी दिल्ली में कोरोना का कहर बढ़ता ही जा रहा है। कोरोना संक्रमण का इस रफ्तार से बढ़ना अब चिंता का विषय बन गया है। त्योहारी सीजन में कोरोना का कहर जारी है। ऐसे में हर दिन हज़ारों की संख्या में लोग संक्रमित हो रहे हैं।

दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने सोमवार को कहा कि दिल्ली में दोबारा से लॉकडाउन नहीं लगाया जाएगा। उन्होंने कहा कि दिल्ली में कोरोना के मामले भले बढ़ रहे हों लेकिन हालत काबू में है। उन्होंने लोगों से मास्क पहनकर ही घर से बाहर निकलने की अपील की है।

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि दिल्ली में कोरोना संक्रमण का तीसरा फेज अब धीरे-धीरे कम हो रहा है। जून के अंदर पॉजिटिविटी रेट औसतन 37% था। तीसरे फेज में औसतन पॉजिटिविटी रेट 15 है जो अब धीरे-धीरे कम हो रहा है।

उन्होंने ट्वीट किया,”दिल्ली में फिर से लॉकडाउन नहीं लगाया जाएगा। मुझे नहीं लगता कि अब यह प्रभावी कदम होगा। सभी का मास्क पहनकर बाहर निकलना ही फायदेमंद होगा।”

दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा कि नवंबर में आई कोरोना की तीसरी लहर अब कमजोर पड़ रही है और ये उछाल के ठीक स्तर को पार कर चुकी है। ऐसे में संक्रमित मरीजों की संख्या अब आगे नहीं बढ़ेगी, बल्कि इसमें गिरावट दर्ज की जाएगी। दिल्ली में कोरोना टेस्टिंग को और बढ़ाया जाएगा।

स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन का कहना है कि त्यौहारी सीजन बीत चुका है, ऐसे में आने वाले दिनों में बाजारों में भीड़-भाड़ भी कम होगी, दोबारा लॉकडाउन की कोई संभावना नहीं है। राजधानी में फिलहाल 8700 बेड कोविड-19 मरीजों के लिए हैं, जिसमें 7900 खाली हैं, हालांकि राजधानी में आईसीयू बेड की संख्या पर्याप्त नहीं है।

आईसीयू बेड को लेकर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और गृह मंत्री अमित शाह के बीच रविवार की शाम बैठक भी हुई थी। स्वास्थ्य मंत्री कहा कि केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने आश्वासन दिया है कि डीआरडीओ में 700 आईसीयू बेड की क्षमता बढ़ाई जाएगी, जिसके लिए पैरामिलिट्री मेडिकल फोर्स भी तैनात होंगे।

सत्येंद्र जैन ने कहा कि दिल्ली में हर दिन औसतन हजार टेस्ट किए जा रहे हैं और प्रति मिलियन टेस्ट की दर लगभग 3000 है, जो देश के किसी भी राज्य से कहीं ज्यादा है। ऐसे में जाहिर है कि मरीजों की संख्या ज्यादा दर्ज होगी। हम यूपी की बात नहीं कर रहे, जहां टेस्ट नहीं हो रहे हैं क्योंकि यूपी के लोग दिल्ली में आकर टेस्ट करवा रहे हैं।

कोरोना संक्रमण की मौजूदा स्थिति पर बात करते हुए उन्होंने बताया,”कल दिल्ली में 3235 पॉजिटिव केस, 7606 रिकवर और 95 मौतें रिपोर्ट की गईं। अभी दिल्ली में 8700 बेड भरे हुए हैं और 7900 खाली हैं।”

जानकारी के लिए बता दें कि दिल्ली में कोरोना के 3,235 नए मामले सामने आये, जिससे रविवार को यहां संक्रमितों की संख्या बढ़कर 4.85 लाख से अधिक हो गई। वहीं, 95 और मरीजों की संक्रमण से मौत हो जाने से मृतक संख्या बढ़कर 7,614 हो गई।

Load More In Breaking News
Comments are closed.