1. हिन्दी समाचार
  2. ताजा खबर
  3. दिल्ली में लॉकडाउन लगने की संभावना अभी नहीं, केस बढ़ने पर ‘ग्रेडेड रेस्पोंस एक्शन प्लान’ को किया जाएगा फॉलो-सत्येन्द्र जैन

दिल्ली में लॉकडाउन लगने की संभावना अभी नहीं, केस बढ़ने पर ‘ग्रेडेड रेस्पोंस एक्शन प्लान’ को किया जाएगा फॉलो-सत्येन्द्र जैन

There is no possibility of lockdown in Delhi yet Graded Response Action Plan' will be followed if the case increases Satyendra Jain;केंद्र सरकार ऑमिक्रॉन वेरिएंट से प्रभावित देशों से आने वाली फ्लाइट बैन करे। कोरोना वायरस के हर वेरिएंट से बचने की मास्क ही है एकमात्र शील्ड।

By Amit ranjan 
Updated Date

खुर्शीद रब्बानी

नई दिल्ली: दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येन्द्र जैन ने सोमवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए दिल्ली में कोरोना के मामलों पर जानकारी साझा की। उन्होंने बताया कि दिल्ली सरकार ओमिक्रोन वेरिएंट से प्रभावित देशों से आने वाले सभी लोगों की टेस्टिंग करवा रही है। अभी तक कुल 27 लोग एलएनजेपी अस्पताल में भर्ती कराये गए हैं। जिनमें से 17 पॉज़िटिव आएं हैं। एक व्यक्ति में ही ओमिक्रोन वारिएंट मिलने की पुष्टि हुई है और बाकी लोगों की जांच जारी है। सभी मरीज़ अस्पताल में हैं। कई ऐसे भी हैं जिनमें कोरोना के कोई लक्षण नहीं हैं।

दिल्ली में 93.9 फीसदी से ज्यादा लोग वैक्सीन की पहली और 61.3 फीसदी से ज्यादा लोग दूसरी डोज लगवा चुके हैं, जिन लोगों ने वैक्सीन लगवा ली है उन्हें भी सावधानी बरतने की जरूरत है- सत्येन्द्र जैन

 

देश में कोरोना के नए वेरिएंट के बढ़ते मामलों को देखते हुए लॉकडाउन की आशंका को ख़ारिज करते हुए सत्येन्द्र जैन ने कहा कि कोरोना के केस बढ़ते ही दिल्ली सरकार अपना ‘ग्रेडेड रेस्पोंस एक्शन प्लान’ फॉलो करेगी। सत्येन्द्र जैन ने कहा कि अभी फिलहाल लॉकडाउन की कोई संभावना नहीं है। कोरोना के केस बढ़ते ही दिल्ली सरकार अपना ‘ग्रेडेड रेस्पोंस एक्शन प्लान’ फॉलो करेगी। जिसके तहत जब संक्रमक दर 0.5 फीसदी, यानी जिस दिन 1 हज़ार में से 5 लोग पॉजिटिव आना शुरू होंगे, उस दिन इसका पहला चरण शुरू होगा। इसका दूसरा चरण संक्रमक दर 1 फीसदी होने पर यानी 1 हज़ार में से 10 लोगों के पॉजिटिव आने पर शुरू किया जाएगा। तीसरा चरण 1 हज़ार टेस्ट करने पर 20 लोगों के पॉजिटिव पाए जाने पर यानी 2‌ फीसदी संक्रमण दर होने पर शुरू किया जाएगा।

 

चौथा और आख़िरी चरण 5 फीसदी संक्रमण दर होने पर शुरू किया जाएगा। हालांकि अभी दिल्ली में कोरोना के मामले 0.5 फीसदी से बहुत कम है। इसलिए किसी भी प्रकार का कोई लॉक डाउन अभी नहीं लगया जाएगा।उन्होंने कहा कि सभी को सतर्क रहने की ज़रूरत है, क्यूंकि यह वेरिएंट बहुत ही तेज़ी से फैलने वाला वेरिएंट है। यह डेल्टा वारिएंट से भी ज़्यादा तेज़ी से फैलता है। इसलिए हमें ज्यादा से ज्यादा सतर्कता बरतने की ज़रूरत है।

 

उन्होने लोगों से अपील करते हुए कहा कि मास्क ही वायरस के हर वेरिएंट से बचने की एकमात्र शील्ड है। सभी लोग मास्क जरूर लगाएं तथा जिन्होंने वैक्सीन की दूसरी डोज़ नहीं लगवाई है, वे जल्द से जल्द दूसरी डोज़ लगवाएं। तभी हम कोरोना का सामना मजबूती से कर पाएंगे। दिल्ली में 93.9 फीसदी से भी ज्यादा लोग वैक्सीन की पहली डोज़ ले चुके हैं। दूसरी डोज़ 61.3 फीसदी से ज्यादा लोग ले चुके हैं। जिन लोगों ने वैक्सीन लगवा लिया है उन्हें भी सावधानी बरतने की ज़रूरत है।

उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने केंद्र को चिट्ठी लिख कर ऑमिक्रॉन वेरिएंट से प्रभावित देशों से आने वाले फ्लाइट को कुछ समय तक बंद करने की अपील की थी लेकिन केंद्र सरकार ने ऐसा नहीं किया। पिछली बार भी केंद्र सरकार से हमने अपील की थी कि विदेशों से आने वाली फ्लाइट को जल्द से जल्द बंद करें, लेकिन केंद्र सरकार ने विदेशों से आने वाली फ्लाइट को बंद करने में बहुत देरी कर दी थी। जिसका नतीजा हम लोग देख चुके हैं। इसलिए जरूरी है कि केंद्र सरकार हमारी बातों को संज्ञान में ले और कुछ दिनों के लिए ऑमिक्रॉन वेरिएंट से प्रभावित देशों से आने वाली फ्लाइट बंद करें। ओमिक्रोन वेरिएंट से बचने का यह सबसे आसान और कारगर तरीका है। दिल्ली में विदेशों से सबसे ज़्यादा फ्लाइट आती हैं। इसलिए दिल्ली को इससे सबसे ज़्यादा ख़तरा है।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...