Home वायरल पिंकी मीणा की शादी में मंडप तक नहीं पहुंची बारात, चार दिन की चांदनी के बाद अब सलाखों वाली रात

पिंकी मीणा की शादी में मंडप तक नहीं पहुंची बारात, चार दिन की चांदनी के बाद अब सलाखों वाली रात

0 second read
0
20

दौसा: राजस्थान प्रशासनिक सेवा की सस्पेंडेड अधिकारी पिंकी मीणा की मंगलवार को हुआ है और इस राजस्थान में मंगलवार को हुई अहम शादी में तब मोड़ आया जब बारात मंडप तक नहीं पहुंच सकी और सभी मेहमान बारात की आस में टकटकी लगाए अपने घरों को वापस चले गए।

रिश्वत लेने के मामले में जेल में सजा काट रही सस्पेंडेड अधिकारी पिंकी मीणा को शादी के जेल से 10 दिन का पैरोल मिला था और एक जज से उनकी शादी होनी थी जिसके बाद शादी की सभी तैयारियां जोरों शोरों से चल रही थी और जयपुर के सीकर रोड पर स्थित एक रिसॉर्ट में मेहमानों के आव तव्वजों के लिए शाही मेहमनानवाजी भी की गई।लेकिन शाही मेहमाननवाजी का लुत्फ उठाने बारात नहीं पहुंचीं और देर रात तक दूल्हे का मंडप में इंतजार होता रहा लेकिन शादी का मंडप सूना ही रहा।

बतादें की सस्पेंडेड अधिकारी पिंकी मीणा की शादी इलाके में चर्चा का विषय बना रहा लेकिन आज सुबह इस पूरे मामले से पर्दा हट गया और जिसमें पिंकी मीणा की शादी में न ठोल-बाजा बजा और न चमचमाती रोशनी और आतिशबाजी की गई, बल्कि गुपचुप में एक गांव में ही फेरे लिये गये।

मंगलवार को देर रात फुसफुसाहट हुई और कहा गया की बारात राजावास के इस गार्डन में नहीं आएगी। और पिंकी मीणा की शादी उनके गांव चिथवाड़ी स्थित घर में ही होगी। कुछ देर में दूल्हा नरेंद्र भी दौसा के बसवा से चिथवाड़ी गांव में पहुंच गया। और गांव में शादी पिंकी मीणा के घर पर बिना डेकोरेशन के हुई, बताया जा रहा है की सामान्य दिनों की तरह ही बिजली की व्यवस्था थी और ना गाना, ना बाजा और ना ही रिश्तेदारों का जमघट था।

सस्पेंड पिंकी मीणा की गुपचुप तरीके से हुई शादी में पिंकी के करीबी रिश्तेदार और परिजन ही शामिल हुए और पाणीग्रहण संस्कार हुआ, सात फेरे भी लिए गए और शादी की औपचारिकता भी हुई। और फिर पिंकी मीणा की विदाई हुई। वहीं अभी पिंकी की मुसीबतें कम नहीं हुई है। और 21 फरवरी को पिंकी मीणा को जेल में सरेंडर करना होगा।

Load More In वायरल
Comments are closed.