Home देश शुरू होने से पहले ही फेल होती नजर आ रही है कोरोना वैक्सीनेशन का नया चरण, 18 से अधिक उम्र वालों पर संकट !

शुरू होने से पहले ही फेल होती नजर आ रही है कोरोना वैक्सीनेशन का नया चरण, 18 से अधिक उम्र वालों पर संकट !

2 second read
0
233

नई दिल्ली : देश में लगातार बढ़ते कोरोना के ग्राफों के बीच केंद्र और राज्य सरकार ने पूरे देश में 1 मई से 18 से अधिक उम्र वाले लोगों को कोरोना वैक्सीनेशन की बात कही है। जिसे लेकर कल देर शाम से ही लोगों ने रजिस्ट्रेशन करना शुरू कर दिया, जिससे उन्हें जल्द से जल्द टीका लग सकें। लेकिन जैसे-जैसे यह समय और नजदीक होता जा रहा है, वैसे ही वैसे यह वैक्सीनेशन कार्यक्रम और धूमिल होता नजर आ रहा है।

गौरतलब है कि इस वैक्सीनेशन के कार्यक्रम के शुरू करने से पहले ही दिल्ली समेत कई राज्यों ने हाथ खड़े कर लिये है, जिसका कारण उन्होंने वैक्सीन की कमी को बताया है। दिल्ली स्वास्थ मंत्री सतेन्द्र जैन ने कहा कि अभी दिल्ली में वैक्सीन नहीं है, हमने कंपनियों से वैक्सीन उपलब्ध कराने की अपील की है। जब हमें वैक्सीन मिलेगी, तब आपको बता दिया जाएगा।

ओडिशा सरकार की ओर से भी 1 मई से वैक्सीनेशन का नया चरण शुरू करने पर हाथ खड़े कर दिए गए हैं। ओडिशा में वैक्सीनेशन का जिम्मा संभाल रहा बिजया पनिगढ़ी का कहना है कि राज्य में वैक्सीन देरी से आएंगे, ऐसे में 1 मई से वैक्सीनेशन शुरू होना मुश्किल है। अभी वैसे ही 12 जिलों में वैक्सीनेशन ठप है, क्योंकि वैक्सीन नहीं है। उम्मीद है कि 15 मई तक वैक्सीन पहुंच जाएगी।

दिल्ली और ओडिशा की तरह ही जम्मू-कश्मीर में भी वैक्सीनेशन का संकट है। सरकारी सूत्रों का कहना है कि उन्होंने वैक्सीन के लिए ऑर्डर दे दिया है, लेकिन सप्लाई अभी नहीं आई है। ऐसे में उम्मीद है कि सप्लाई 20 मई तक पहुंच पाएगी और उसी के बाद ही वैक्सीनेशन शुरू हो पाएगा। घाटी में पहले ही वैक्सीन की शॉर्टेज हो रही है, बीते कुछ दिनों में लोगों को वैक्सीनेशन सेंटर से लौटाया जा रहा है।

पंजाब के स्वास्थ्य मंत्री ने भी स्पष्ट कह दिया है कि केंद्र की ओर से वैक्सीन नहीं मिल रही है, ऐसे में 1 मई से वैक्सीनेशन का नया चरण नहीं हो पाएगा। पंजाब के स्वास्थ्य मंत्री बलबीर सिद्धू का कहना है कि पंजाब के पास वैक्सीन की भारी किल्लत है और 1 मई से जो 18 से लेकर 45 साल तक की उम्र के लोगों के लिए वैक्सीनेशन ड्राइव शुरू किया जा रहा है, उन लोगों को लगाने के लिए पंजाब के पास वैक्सीन नहीं है।

बलबीर सिद्धू ने कहा कि अगर केंद्र सरकार उन्हें 10 लाख वैक्सीन भी उपलब्ध करवा दे, तब भी 1 मई से ड्राइव शुरू कर सकते हैं लेकिन ऐसी उम्मीद बेहद ही कम है। पंजाब में वैक्सीनेशन की किल्लत के बीच जहां-जहां वैक्सीन उपलब्ध है वहां पर वैक्सीनेशन का काम लगातार जारी है। कई शहरों के प्राइवेट अस्पतालों में वैक्सीन खत्म होने की वजह से यहां वैक्सीनेशन ठप है।

आपको बता दें कि इन राज्यों से पहले महाराष्ट्र और राजस्थान भी इनकार कर चुके हैं कि उनके पास वैक्सीन नहीं है, ऐसे में 1 मई से वैक्सीनेशन के नए चरण की शुरुआत नहीं हो पाएगी। राजस्थान ने तो अपने यहां 15 मई से नए चरण की शुरुआत करने की बात कही है।

वहीं दूसरी तरफ वैक्सीन के संकट के बीच दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने गुरुवार को बैठक बुलाई है। शाम 4 बजे दिल्ली के मुख्यमंत्री अन्य अधिकारियों के साथ बैठक करेंगे। इसमें स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन भी शामिल होंगे। स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा कि पिछले डेढ़ महीने में पॉजिटिव रेट तेजी से बढ़ा था, लेकिन पिछले तीन दिनों में इसमें कमी आई है। ऐसे में ये एक उम्मीद जगाता है।

बता दें कि बुधवार शाम 4 बजे से ही 18+ वालों के लिए वैक्सीनेशन के लिए रजिस्ट्रेशन शुरू हो गया है। अभी तक डेढ़ करोड़ से अधिक लोग रजिस्ट्रेशन करवा भी चुके हैं। लेकिन देश के अलग-अलग इलाकों से लगातार वैक्सीन की शॉर्टेज की खबरें आ रही हैं, जो वैक्सीनेशन के नए चरण को लेकर सवाल खड़े करती हैं।

Load More In देश
Comments are closed.