Home Breaking News बिहार के मतदाताओं के नाम सोनिया गांधी का संदेश, बोलीं- नए बिहार के लिए हों एकजुट

बिहार के मतदाताओं के नाम सोनिया गांधी का संदेश, बोलीं- नए बिहार के लिए हों एकजुट

10 second read
0
5

बिहार में बुधवार 28 अक्तूबर को पहले चरण के लिए मतदान होना है। जनता पांच सालों के लिए राज्य की गद्दी पर किस पार्टी को बैठाएगी इसका फैसला 10 नवंबर को होगा।

हालांकि चुनाव में जनता को अपनी तरफ करने की हर राजनीतिक पार्टियां पुरजोर कोशिश कर रही हैं। महागठबंधन के नेतृत्व में चुनाव लड़ने वाले कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष ने बीते शुक्रवार को राज्य में दो चुनावी रैलियों को संबोधित किया। अब पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी ने मंगलवार को जनता के नाम एक वीडियो संदेश साझा किया है।

कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने बिहार चुनाव में महागठबंधन को जिताने की अपील की है। सोनिया ने करीब पांच मिनट का वीडियो जारी कर कहा है कि ‘सत्ता के अहंकार में वर्तमान बिहार सरकार अपने रास्ते से भटक गई है। उनकी करनी और कथनी में भारी अंतर है। मजदूर असहाय हैं, किसान चिंतित हैं और युवा निराश हैं। जनता कांग्रेस के महागठबंधन के साथ है और यह बिहार का आह्वान है।’

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने कहा कि दिल्ली-बिहार में बंदी सरकारें हैं, नोटबंदी-तालाबंदी, व्यापारबंदी, आर्थिकबंदी, खेत खलिहान बंदी, रोटी-रोजगार बंदी. इसलिए ऐसी बंदी सरकार के खिलाफ बिहार की जनता तैयार है और अब बदलाव की बयार है।

सोनिया गांधी ने कहा, ‘निर्वाचित सरकार द्वारा राज्य मशीनरी का दुरुपयोग उन लोगों का अपमान है जिन्होंने सरकार को इसका इस्तेमाल करने की शक्ति दी।’ रायबरेली सांसद ने कहा कि’ लोकतंत्र में असंतोष नागरिकों की स्वतंत्रता को दर्शाता है। एक सरकार जो नागरिकों की राय के आधार पर अंतर करे वह तानाशाही के अलावा और कुछ नहीं है।’

सोनिया ने कहा कि ‘सरकार के पक्षपाती एजेंडे के साथ ना चलने वाले, अपनी स्वतंत्रता, विचार और अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता का उपयोग करना, अपने अधिकारों और राष्ट्र की प्रगति के लिए मजबूत खड़े होना- आपको दूसरे दर्जे के नागरिक नहीं बनाता है. यह सच्चे राष्ट्रवादियों और देशभक्तों की विशेषताएं हैं।’

सोनिया गांधी ने आगे कहा, ‘बिहार की जनता की आवाज कांगेस महागठबंधन के साथ है। यही है आज बिहार की पुकार। दिल्ली और बिहार की सरकारें बंदी सरकारें हैं। नोटबंदी, तालाबंदी, व्यापारबंदी, आर्थिक बंदी, खेत-खलिहान बंदी, रोटी-रोजगार बंदी।

इसीलिए बंदी सरकार के खिलाफ- अगली नस्ल और अगली फसल के लिए एक नए बिहार के निर्माण के लिए, बिहार की जनता तैयार है। अब बदलाव की बयार है। क्योंकि बदलाव जोश है, ऊर्जा है, नई सोच है और शक्ति है। अब नई इबारत लिखने का समय आ गया है। बिहार की जनता से मेरी अपील है कि वो महागठबंधन के उम्मीदवारों को वोट दें और नए बिहार का निमार्ण करें।’

लगभग पांच मिनट के संदेश में कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि बिहार के हाथों में गुण है, ताकत है लेकिन बेरोजगारी, पलायन, महंगाई ने आंखों में आंसू और पैरों में छाले दिए हैं। जो शब्द कहे नहीं जाते उन्हें आंसुओं से कहना पड़ता है। भय, डर के आधार पर नीतियां नहीं बनाई जा सकती हैं, बिहार भारत का आइना है, ये भारत की शान और अभिमान है।

Load More In Breaking News
Comments are closed.