Home सियासत रणदीप सिंह सुरजेवाला ने पीएम मोदी पर साधा निशाना, कहा- आपने अवसर सिर्फ़ पूँजीपतियों के लिए गढ़ा

रणदीप सिंह सुरजेवाला ने पीएम मोदी पर साधा निशाना, कहा- आपने अवसर सिर्फ़ पूँजीपतियों के लिए गढ़ा

48 second read
0
10

केंद्र सरकार द्वारा द्वारा पारित किये गए तीन कृषि कानून के खिलाफ किसानों का विरोध प्रदर्शन पिछले 75 दिन से लगातार जारी है। कृषि आंदोलन का आज 75वा दिन है। इस बीच पीएम मोदी ने आज राज्यसभा को संबोधित किया। उनके सम्बोधन के बाद से ही कांग्रेस पार्टी पीएम मोदी पर लगातार जम के निशाना साधा है।

कांग्रेस नेता व प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला पीएम मोदी और उनकी पार्टी पर लगातार आरोप लगते नजर आ रहे है। रणदीप सिंह सुरजेवाला पीएम मोदी पर सुबह से ही आरोप लगते दिख रहे है। उन्होंने अब शायराना अंदाज में पीएम मोदी पर तंज कसा है।

उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा मैथलीशरण जी आज होते तो मोदी सरकार के लिये यूँ कहते, “आपने अवसर सिर्फ़ पूँजीपतियों के लिए गढ़ा है, किसान तो चौराहे पर चुपचाप महीनों से अपने हक़ माँगता पड़ा है, आपका कर्मक्षेत्र सत्ता के स्वार्थों से भरा है, पल-पल है अनमोल, अरे भारत उठ, आँखें खोल..”

उन्होंने आगे लिखा भारत की आँखे खोल देने वाले कुछ सवालों के जवाब दीजिये, वक्तव्यों और व्यवहार में ये अंतर क्यों है ये जवाब दीजिये? 1) क्या ये सही नहीं कि सत्ता संभालते ही 12 जून, 2014 को मोदी सरकार ने राज्यों द्वारा समर्थन मूल्य के ऊपर दिए जा रहे ₹150/क्विंटल बोनस बंद करवा दिया? #RajyaSabha

उन्होंने अपने ट्वीट में आगे लिखा भारत की आँखे खोल देने वाले कुछ सवालों के जवाब दीजिये -: 2) क्या ये सही नहीं कि मोदी सरकार ने दिसंबर 2014 में किसानों के हक़ के भूमि के ‘उचित मुआवज़ा कानून’ को एक के बाद एक तीन अध्यादेश लाकर पूंजीपतियों के हक़ में बदलने की षड्यंत्रकारी कोशिश की?

कांग्रेस प्रवक्ता ने आगे लिखा भारत की आँखे खोल देने वाले कुछ सवालों के जवाब दीजिये-: 3) क्या ये सही नहीं कि आपने सुप्रीम कोर्ट में फरवरी 2015 में शपथ पत्र देकर कहा कि किसानों को अगर लागत + 50% से ऊपर समर्थन मूल्य दिया तो बाज़ार ख़राब हो जाएगा अर्थात् आप पूँजीपतियों के पक्ष मे खड़े हो गए थे।

पीएम मोदी पर आरोप लगाते हुए सुरजेवाला ने आगे लिखा भारत की आँखे खोल देने वाले कुछ सवालों के जवाब दीजिये-: 4) क्या ये सही नहीं कि खरीफ 2016 से प्रारंभ ‘प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना’ में साल 2019 तक ₹26,000 करोड़ का मुनाफ़ा ‘निजी कंपनियों’ को पहुँचाया गया, अन्यथा ये राशि भी किसानों के खाते में जाती?

Load More In सियासत
Comments are closed.