Home Politics ‘’ये 41 साल इस बात के साक्षी हैं कि सेवा और समर्पण के साथ कोई पार्टी कैसे काम करती है”: PM मोदी

‘’ये 41 साल इस बात के साक्षी हैं कि सेवा और समर्पण के साथ कोई पार्टी कैसे काम करती है”: PM मोदी

38 second read
0
12

नई दिल्ली : ‘’ये 41 साल इस बात के साक्षी हैं कि सेवा और समर्पण के साथ कोई पार्टी कैसे काम करती है”, ये कहना है पीएम मोदी का। जिन्होंने बीजेपी के 41 साल पूरे होने पर आज देश के नाम संबोधन किया। पीएम मोदी ने कहा कि, ‘’ये 41 साल इस बात के साक्षी हैं कि सेवा और समर्पण के साथ कोई पार्टी कैसे काम करती है और सामान्य कार्यकर्ता का तप और त्याग किसी भी दल को कहां से कहां पहुंचा सकता है।’’ उन्होंने कहा कि, ‘’पार्टी को आकार और विस्तार देने वाले हमारे आदरणीय लाल कृष्ण आडवाणी जी, आदरणीय मुरली मनोहर जोशी जी जैसे अनेकों वरिष्ठों का आशीर्वाद हमें हमेशा मिलता रहा है।’’

पीएम मोदी ने आगे कहा, ‘’देश का शायद ही कोई राज्य या जिला होगा, जहां पार्टी के लिए 2-3 पीढ़ियां न खप गई हों। मैं इस अवसर पर जनसंघ से लेकर भाजपा तक राष्ट्र सेवा के इस यज्ञ में अपना योगदान देने वाले हर व्यक्ति को आदर पूर्वक नमन करता हूं।’’ उन्होंने कहा कि, “हमारे देश में राजनीतिक स्वार्थ के लिए दलों के टूटने के अनेकों उदाहरण हैं लेकिन देशहित में लोकतंत्र के लिए दल के विलय की घटनाएं शायद ही कहीं मिलेंगी। भारतीय जनसंघ ने ये करके दिखाया था।“

पीएम मोदी ने कहा कि, ‘’डॉ श्यामाप्रसाद मुखर्जी जी, पंडित दीनदयाल उपाध्याय जी, अटल बिहारी वाजपेयी जी, कुशाभाऊ ठाकरे जी, राजमाता सिंधिया जी, ऐसे अनगिनत महान व्यक्तित्वों को बीजेपी के प्रत्येक कार्यकर्ता की तरफ से मैं श्रद्धांजलि देता हूँ, श्रद्धासुमन अर्पित करता हूं।’’ मोदी ने कहा कि, ‘’पिछले साल कोरोना ने पूरे देश के सामने एक अभूतपूर्व संकट खड़ा कर दिया था। तब आप सब, अपना सुख-दुःख भूलकर देशवासियों की सेवा में लगे रहे। आपने ‘सेवा ही संगठन’ का संकल्प लिया, उसके लिए काम किया।’’

 

उन्होंने कहा कि हमारा मंत्र “व्याक्ति से बड़ा दल और दल से बड़ा देश” है। यह परंपरा आज भी जारी है। हमने श्यामा प्रसाद मुखर्जी के दृष्टिकोण (एक भारत के) को पूरा किया, अनुच्छेद 370 को खत्म किया और कश्मीर को संवैधानिक अधिकार दिया। इसलके साथ ही पीएम मोदी ने कोरोना काल के दौरान सरकार द्वारा किये गये कार्यों का भी उल्लेख किया। पीएम मोदी ने कहा कि पहली बार देश में किसी सरकार ने किसानों की सुध ली है। आपको बता दें कि पीएम मोदी से पहले पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने भी कार्यकर्ताओं को संबोधित किया।

अगर हम बीजेपी के स्थापना तिथि की बात करें तो, बीजेपी की स्थापना 6 अप्रैल 1980 को पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी की अध्यक्षता में जनसंघ से निकले लोगों ने की।

Load More In Politics
Comments are closed.