1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. PM मोदी डॉक्टरों से संवाद के दौरान खुद भावुक हो गये, योगी सरकार के नीतियों की सराहना की

PM मोदी डॉक्टरों से संवाद के दौरान खुद भावुक हो गये, योगी सरकार के नीतियों की सराहना की

By RNI Hindi Desk 
Updated Date

रिपोर्ट: सत्यम दुबे

वाराणसी: कोरोना महामारी के दूसरे लहर का कहर लगातार जारी है। कोरोना से संक्रमित मरीज ऑक्सीजन और दवाईयों की कमीं से लगातार दम तोड़ रहें हैं। महामारी के दूसरे लहर ने कई हंसते-खेलते परिवारों को तबाह कर दिया है। मौजूदा वक्त में कोरोना महामारी ने यूपी को चपेट में ले लिया है। प्रधानमंत्री मोदी ने शुक्रवार को अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी के डॉक्टरों, पैरामेडिकल स्टाफ और अन्य फ्रंटलाइन स्वास्थ्यकर्मियों से बात करते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की जमकर तारीफ की। पीएम ने इस दौरान कोरोना वायरस की रोकथाम को लेकर योगी सरकार के प्रयासों को भी सराहा।

पीएम मोदी इस बातचीत के दौरान भावुक हो गए और उन्होंने कोरोना के कारण जान गंवाने वाले लोगों को श्रद्धांजलि दी। चिकित्सकों को श्रद्धांजलि देते वक्त पीएम के आंसू छलक गए और उन्होंने कहा कि चिकित्सकों का योगदान सराहनीय है। पीएम मोदी ने वाराणसी में ब्रिगेडियर एस बवेजा (DRDO अस्पताल, प्रमुख, वाराणसी), प्रोफेसर के के गुप्ता (मेडिकल सुपरिटेंडेंट, BHU अस्पताल),डॉ. प्रसन्न कुमार (मंडलीय चिकित्सा अधीक्षक, मंडलीय अस्पताल) और डॉ. असीम मिश्रा (चिकित्सा अधीक्षक, होमी भाभा अस्पताल, वाराणसी) से बातचीत की। इस बातचीत में पीएम ने कहा, ‘इस वायरस ने हमारे कई अपनों को हमसे छीना है। मैं उन सभी लोगों को अपनी श्रद्धांजलि देता हूं, उनके परिजनों के प्रति सांत्वना व्यक्त करता हूं।’

वाराणसी को लेकर पीएम ने कहा कि मैं काशी का एक सेवक होने के नाते हर एक काशीवासी का धन्यवाद देता हूं। विशेष रूप से हमारे डॉक्टर्स ने, नर्सेस ने, टेक्निशंस, वॉर्ड बॉयज़, ऐम्बुलेंस ड्राइवर्स, आप सभी ने जो काम किया है, वो वाकई सरहनीय है पीएम ने कहा कि बनारस ने जिस स्पीड से इतने कम समय में ऑक्सीजन और आईसीयू बेड्स की संख्या कई गुना बढ़ाई है, जिस तरह से इतनी जल्दी पंडित राजन मिश्र कोविड अस्पताल को सक्रिय किया है, ये भी अपने आपमें एक उदाहरण है।

उन्होने डॉक्टरों से आगे कहा कि आपके तप से, और हम सबके साझा प्रयासों से महामारी के इस हमले को आपने काफी हद तक संभाला है। लेकिन अभी संतोष का समय नहीं है। हमें अभी एक लंबी लड़ाई लड़नी है। अभी हमें बनारस और पूर्वांचल के ग्रामीण इलाकों पर भी बहुत ध्यान देना है।

पीएम मोदी ने ग्रामींण इलाकों में दवा बॉटने की सराहना की, और उन्होने आगे कहा कि ‘जहां बीमार वहीं उपचार’, इस सिद्धांत पर माइक्रो-कंटेनमेंट ज़ोन बनाकर जिस तरह आप शहर एवं गावों में घर घर दवाएं बांट रहे हैं, ये बहुत अच्छी पहल है। इस अभियान को ग्रामीण इलाकों में जितना हो सके, उतना व्यापक करना है। पीएम ने कहा कि हमारी इस लड़ाई में अभी इन दिनों ब्लैक फंगस की एक और नई चुनौती भी सामने आई है। इससे निपटने के लिए जरूरी सावधानी और व्यवस्था पर ध्यान देना जरूरी है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...
RNI News Ads