Home देश नई ऊंचाई पर पेट्रोल-डीजल की कीमत, जानें कितनी है आज की कीमत

नई ऊंचाई पर पेट्रोल-डीजल की कीमत, जानें कितनी है आज की कीमत

2 second read
0
20

सरकार पेट्रोल-डीजल पर कोई राहत देने को तैयार नहीं है। सरकारी तेल कंपनियों की ओर से लगातार दूसरे चौथे भी पेट्रोल और डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी की गई है। पेट्रोल की दर में 26-29 पैसे प्रति लीटर की बढ़ोतरी की गई, जबकि आज देश के प्रमुख शहरों में डीजल की कीमत में 34-38 पैसे लीटर की बढ़ोतरी हुई है।

पिछले 12 दिनों में, पेट्रोल की कीमत में 4.13 रुपये प्रति लीटर की वृद्धि हुई है, जबकि डीजल राष्ट्रीय राजधानी में 4.26 रुपये बढ़ गया है। इसके अलावा, खुदरा कीमतों में लगभग 11 महीनों में कटौती नहीं हुई है। जिससे आम जनता की जेब पर गहरी मार पड़ी हैं।

दिल्ली और मुंबई में पेट्रोल की कीमत अब तक के उच्चतम स्तर पर पहुंच गई है। और कई शहरों में पेट्रोल की कीमत 90 रूपये तक हो गई है, और ऐसा लगता है क‍ि जल्दी ही सेंचुरी लगा लेगा। इस बढ़त से मुंबई में पेट्रोल का रेट 94.64 और डीज़ल 81.96 रुपये पार हो गया है, जबकि दिल्ली में पेट्रोल बढ़कर 88.14 रुपये लीटर हो गया है। तो वही दिल्ली में डीजल 78.38 रुपये प्रति लीटर हो गई है। देश की दूसरे देशों की बात करे तो चेन्नई में पेट्रोल 90.44 रुपये और डीजल 83.52 रुपये लीटर है।

बंगाल की राजधानी कोलकाता में पेट्रोल 89.44 रुपये और डीजल 81.96 रुपये लीटर हो गया है। नोएडा में पेट्रोल 87.05 और डीजल 78.80 रुपये लीटर है। उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में पेट्रोल की कीमत 86.99 रुपये लीटर हो गया है, वही डीज़ल की कीमत 78.75 रुपये लीटर है।

हैदराबाद में पेट्रोल 91.65 रुपये और डीज़ल 85.50 रुपये है। वही, बेंगलुरु में पेट्रोल की कीमत 91.09 रुपये हो गए है, वही डीज़ल की कीमत 83.09 रुपये है। बिहार की राजधानी पटना की बात करे तो पटना में पेट्रोल की कीमत 90.55 रुपये है वही डीज़ल 83.58 रुपये है। वही जयपुर में पेट्रोल की कीमत 94.55 है और डीज़ल की 86.65 है।

पिछले महीने से ईंधन की कीमतों में तेजी देखी जा रही है, जिससे उत्पाद शुल्क में कटौती की मांग की जा रही है। इससे पहले, पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने कहा था कि ईंधन की कीमतें कोरोनोवायरस महामारी के कारण तेल उत्पादक देशों में कम उत्पादन के कारण बढ़ गई थीं।

3 फरवरी को एक बैठक में पेट्रोलियम निर्यातक देशों के संगठन ने आउटपुट के साथ जाने का फैसला किया। बुधवार को, प्रधान ने पेट्रोल और डीजल की सर्पिल खुदरा कीमतों से उपभोक्ताओं को राहत देने के लिए उत्पाद शुल्क में किसी भी कटौती से इनकार किया, जो सभी समय के उच्च स्तर को छू गया है।

राज्यसभा में उन्होंने कहा, ” ऐसा कोई प्रस्ताव फिलहाल नहीं है, जब उनसे पूछा गया कि क्या सरकार कीमतों को घटाने के लिए करों में कटौती कर रही है। कोविद -19 टीकों के वैश्विक रोलआउट के बीच मांग के दृष्टिकोण में सुधार पर अंतरराष्ट्रीय तेल की कीमतों में पहली बार 61 डॉलर प्रति बैरल से अधिक की वृद्धि हुई है, क्योंकि उन्होंने कहा था।

Load More In देश
Comments are closed.