Home दिल्ली ब्रिटेन से आने वाले यात्रियों का 7 दिनों तक क्वरंटाइन में रहना अनिवार्य

ब्रिटेन से आने वाले यात्रियों का 7 दिनों तक क्वरंटाइन में रहना अनिवार्य

13 second read
0
10

ब्रिटेन से आने वाले यात्रियों का 7 दिनों तक क्वरंटाइन में रहना अनिवार्य

कोरोना वायरस संकट के बीच ब्रिटेन में मिले नए कोविड-19 स्ट्रेन को लेकर देश के अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डों पर एहतियात के तौर पर सुरक्षा बढ़ा दी गई है। केंद्र सरकार की गाइडलाइन के मुताबिक ब्रिटेन से आने वाले यात्रियों का 7 दिनों तक क्वरंटाइन में रहना अनिवार्य है।

इस बीच शुक्रवार को यूके से आने वाले कुछ यात्रियों ने इंदिरा गांधी हवाई अड्डे पर हंगामा मचा दिया। यात्री कोरोना वायरस की नई गाइडलाइन से अनजान थे और लंबा इंतजार करने की वजह से नाराज थे।

यात्रियों के हंगामें के बाद अब इंदिरा गांधी हवाई अड्डा ने ट्वीट कर जानकारी दी है कि यात्रियों को 7 दिनों के लिए क्वरंटाइन रहना अनिवार्य है। इसके अलावा यूनाइटेड किंगडम की उड़ानों से आने वाले सभी यात्रियों के लिए कोरोना वायरस टेस्ट और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना होगा।

इसके अलावा एयरपोर्ट ने कहा कि टेस्ट के परिणाम आने के लिए यात्रियों को 10 घंटे तक का इंतजार भी करना पड़ सकता है। एयरपोर्ट ने ट्वीट कर कहा कि आरटी-पीसीआर टेस्टे में नेगेटिव आने वाले यात्रियों को भी सात दिनों के लिए क्वारंटाइन में रहना होगा।

इसके अलावा टेस्ट का खर्च और परिणाम आने तक रुकने का खर्च भी खुद यात्रियों को ही उठाना होगा। बता दें कि शुक्रवार को यूके से दिल्ली लैंड होने वाली फ्लाइट के यात्रियों ने एयरपोर्ट पर हंगामा मचा दिया था। ब्रिटेन में नए कोरोना वायरस स्‍ट्रेन के मामले आने के चलते पिछले माह वहां से हवाई यात्रा को प्रतिबंधित किए जाने के बाद वहां से भारत आई यह पहली फ्लाइट थी।

बताया जा रहा है कि भारत आने वाले करीब 250 यात्री, कोविड टेस्टिंग और क्‍वारंटाइन नियमों को लेकर भ्रम की स्थिति होने की शिकायत करते हुए नजर आए।

Load More In दिल्ली
Comments are closed.