Home Breaking News सांसद नवनीत राणा ने शिवसेना सांसद अरविंद सावंत पर लगाया गंभीर आरोप, कहा “चेहरे के ऊपर घमंड है, तेजाब फेंक देंगे”

सांसद नवनीत राणा ने शिवसेना सांसद अरविंद सावंत पर लगाया गंभीर आरोप, कहा “चेहरे के ऊपर घमंड है, तेजाब फेंक देंगे”

1 min read
0
11

रिपोर्ट: सत्यम दुबे

मुंबई: एक ओर महाराष्ट्र बढ़ते कोरोना महामारी से जूझ रहा है, तो दूसरी ओर सियासी उथल-पुथल से जूझ रहा है। कोरोना महामारी दिन पर दिन राज्य को अपनी चपेट में ले रही है, तो वहीं उद्धव सरकार पर दिन पर दिन आरोप भी बढ़ता ही जा रहा है। राज्य के गृह मंत्री पर एक बड़ा आरोप लगा, और इस आरोप को कोई सियासी पार्टी ने नहीं लगाया है, बल्कि मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर और सरकार के सबसे बड़े वजीर परमवीर सिंह ने लगाया है।

परमवीर सिंह ने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को एक पत्र लिखकर महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख पर आरोप लगाया है कि वह हर महीने 100 करोंड़ रुपये इकठ्ठा करने का दबाव बनाते थे। इसके बाद मामला इतना तूल पकड़ लिया है कि, महाराष्ट्र में सरकार का विरोध तो हो ही रहा है, सोमवार को य़ह मामला संसद में भी गूंजा। इतनी ही नहीं संसद में उद्धव सरकार को बर्खास्त करने की मांग की गई।

संसद में इस मद्दे पर अमरावती से निर्दलीय सांसद नवनीत राणा ने भी अपनी बात कही, इसके साथ ही वो महाराष्ट्र सरकार पर भी संसद में जमकर गरजीं। जिसके बाद नवनीत राणा ने शिवसेना सांसद व पूर्व केंद्रीय मंत्री अरविंद सावंत पर धमकी देने का भी आरोप लगाया है। नवनीत ने लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला को चिट्ठी लिखकर अरविंद सावंत पर गंभीर आरोप लगाए हैं। आपको बता दें कि एंटीलिया बम प्रकरण में निलंबित पुलिस अधिकारी सचिन वाजे का वाला मामला संसद में उठाया था। आरोप है कि इसी पर सावंत भड़क गए।

नवनीत राणा ने सावंत पर आरोप लगाते हुए कहा कि सावंत ने उनसे कहा कि “तू महाराष्ट्र में कैसे घूमती है, मैं देखता हूँ। तेरे को भी जेल में डालेंगे।” नवनीत राणा ने आगे कहा कि इससे पहले भी शिवसेना के लेटर हेड और फोन कॉल के माध्यम से उनके चेहरे पर तेजाब फेंकने की धमकी दी जा चुकी है। उन्होने सावंत द्वारी कही गई बातों को महिलाओँ का अपमान करार दिया।

राणा ने आगे कहा कि गरीब पहले से ही परेशान है क्योंकि कोरोना और लॉकडाउन की मार तो उस पर पड़ी ही है, साथ ही उसके पेट पर भी मार पड़ी है। वहीं दूसरी तरफ महाराष्ट्र में 100 करोड़ रुपए की वसूली की आग लगी है, जबकि लोगों की जेब में 100 रुपए भी नहीं हैं। इस पूरे प्रकरण पर उन्होंने कहा कि सचिन वाजे 17 वर्षों से उद्धव ठाकरे के लिए काम कर रहा था और पूरे मुंबई की वसूली को देख रहा था।

उन्होंने कहा, “मुख्यमंत्री बनते सचिन वाजे को उद्धव ने क्राइम यूनिट में भेजा। इस पर मैंने सदन में जनता और संविधान द्वारा दिए गए अधिकार के तहत बात की तो अरविंद सावंत को मिर्ची लग गई। मुझे कोई पुरुष बताएगा कि मेरी बॉडी लैंग्वेज कैसी होगी? मेरे तरफ से गुजरते हुए उन्होंने मुझे जेल भेजने की धमकी दी। मैंने बगल में बैठे एक साथी सांसद ने भी उनकी धमकी को सुना। मुझे पहले भी कहा जाता रहा है कि चेहरे पर इतना घमंड है, इस पर तेजाब फेंक देंगे। कहीं घूमने के लायक नहीं रहोगी।”

वहीं दूसरी तरफ सावंत ने नवनीत राणा द्वारा लगाये गये आरोपो को सरासर झूठा करार दिया। उन्होने आगे कहा कि एक तो वो महिला हैं और उन्हें भैया कह कर पुकारती हैं, ऐसे में कोई शिवसैनिक महिलाओं को धमकाने का काम नहीं सकता। उन्होंने नवनीत राणा के बात करने के तरीके पर सवाल उठाते हुए कहा कि उनके हर बयान की वीडियो क्लिपिंग में उनकी बॉडी लैंग्वेज और सीएम ठाकरे के लिए उनके शब्दों को सुना जा सकता है। सावंत ने कहा कि मैं उन्हें क्यों धमकाऊँगा?

वहीं भाजपा सांसद रमा देवी ने नवनीत राणा का समर्थन करते हुए कहा कि “इस मामले में नवनीत राणा ने मुझसे बात की है। एक सांसद होने के नाते अरविंद सावंत को इस तरह की बात नहीं कहनी चाहिए थी। मैं लोकसभा स्पीकर से कहूँगी कि वे इस मामले को गंभीरता से लें।”

नवनीत राणा की बात करें तो वो कई तेलुगु फिल्मों में भी अभिनय कर चुकी हैं। आपको बता दें कि साल 2010 के बाद नवनीत की कोई भी फिल्म रिलीज नहीं हुई है। साल 2004 में नवनीत राणा दर्शन फिल्म से शुरुआत की थी। उन्होंने तेलुगु अभिनेताओं जूनियर NTR और बालाकृष्णा की फिल्मों में काम किया है। हालाँकि, उन फिल्मों में उनका किरदार बड़ा नहीं रहा। 2008 में आई मलयालम फिल्म ‘लव इन सिंगापुर’ में उन्हें दिग्गज अभिनेता ममूटी के साथ काम करने का मौका मिला था।

 

 

Load More In Breaking News
Comments are closed.