Home Breaking News एमपी : महिला मंत्री के अपमान से नाराज सीएम शिवराज मौन व्रत पर बैठे, समझिए पूरा मसला

एमपी : महिला मंत्री के अपमान से नाराज सीएम शिवराज मौन व्रत पर बैठे, समझिए पूरा मसला

16 second read
0
8
MP: Annoyed by the insult of women minister, CM Shivraj sat on silent fast, understand the whole issue

एमपी में अगले महीनें 28 सीट पर चुनाव होने है लेकिन उससे पहले महिला मंत्री के सम्मान को लेकर बीजेपी कांग्रेस पर हमलावर हो गई है।

दरअसल यह पूरा मामला पूर्व सीएम कमलनाथ की एक टिपण्णी के बाद शुरु हुआ जिसमें उन्होंने सरकार में मंत्री इमरती देवी को आइटम कह दिया।

इमरती देवी पहले कांग्रेस में ही थी लेकिन बाद में सिंधिया के आने के बाद बीजेपी में शामिल हो गई और अब बीजेपी ने उन्हें उम्मीदवार बनाया है।

कमलनाथ के इस बयान के बाद इमरती देवी ने सोनिया गांधी से उन्हें हटाने की विनती की है और उधर सीएम शिवराज उनके सम्मान में धरने पर बैठ गए है। उन्होनें आज अपने अनशन की कुछ तस्वीरें ट्विटर पर शेयर भी की है।

उन्होंने कहा, पूर्व मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ के बयान से उनके और कांग्रेस का चाल, चरित्र और असली चेहरा उजागर हुआ है।

मैं मैडम सोनिया गांधी से पूछता हूँ, क्या वे कमलनाथ जी के शर्मनाक बयान से सहमत हैं? क्या मैडम प्रियंका गांधी वाड्रा अपने वरिष्ठ नेता श्री कमलनाथ के शब्दों का समर्थन करती हैं ?

आगे उन्होंने लिखा, यत्र नार्यस्तु पूज्यन्ते रमन्ते तत्र देवताः जहाँ नारी की पूजा होती है, वहीं देवताओं का वास होता है।

मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री ने कल एक महिला के लिए जिन शब्दों का इस्तेमाल किया, उससे मैं आहत हूँ, शर्मिंदा हूँ। आज बापू के चरणों में उनके लिए प्रायश्चित करने हेतु बैठा हूँ।

उधर कांग्रेस की और से उनके इस मौन अनशन को नौटंकी करार दे दिया गया है , कांग्रेस ने ट्विटर हैंडल से ट्वीट करते हुए लिखा, मध्यप्रदेश में बढ़ती मौत, हत्या और बलात्कार की घटना के बाद व्यापम, ई-टेंडर एवं शैला मसूद हत्या के मुख्य आरोपियों का संयुक्त आत्मग्लानि शिविर।

बाल कलाकार श्रीअंत इंदौर में प्रस्तुति देंगें। “ड्रामेबाज़ी चरम पर है” नजर आ रहे ये सारे, लोकतंत्र के हैं हत्यारे।

मध्य प्रदेश की 28 विधानसभा सीटों के लिए तीन नवंबर को उपचुनाव होना है. कमलनाथ इसी चुनाव के आसरे सत्ता में वापसी का सपना देख रहे हैं लेकिन हो सकता है की उनका यह बयान सिर्फ उनकी पार्टी ही नहीं बल्कि उन पर भी भारी पड़ सकता है।

Load More In Breaking News
Comments are closed.