1. हिन्दी समाचार
  2. Breaking News
  3. सावधान! ऑनलाइन खरीदारी करना कहीं महंगा न पड़ जाए, देखें ये खबर

सावधान! ऑनलाइन खरीदारी करना कहीं महंगा न पड़ जाए, देखें ये खबर

By RNI Hindi Desk 
Updated Date

नई दिल्ली: कोरोना महामारी के दौर में ई-कॉमर्स का चलन बढ़ा है। भीड़भाड वाले स्थान से बचने के लिए लोग ई कॉमर्स से खरीदारी को तरजीह दे रहे हैं। यही वजह है कि पिछले कुछ वर्षो में ई कॉमर्स का कारोबार तेजी से बढा है। पर इसके साथ ई कॉमर्स कंपनियों को लेकर शिकायतें बढ़ी हैं।

उपभोक्ताओं को सबसे ज्यादा शिकायत पांच क्षेत्रों को लेकर है। इनमें बैंकिग, टेलीकॉम, इलेक्ट्रिोनिक प्रोडक्ट, ई कॉमर्स और कंयूमर्स डयूरेबल आइटम को लेकर आती है। इनमें पहले नंबर पर ई कॉमर्स और दूसरे नंबर पर बैंकिग क्षेत्र का नंबर आता है। इसके बाद दूसरे क्षेत्र हैं। कोरोना काल की बात करें तो पिछले साल जनवरी 2020 से अब तक ई कॉमर्स को लेकर तीन लाख से ज्यादा शिकायते में मिली हैं। जबकि टेलीकॉम के बारे में एक लाख से कुछ ज्यादा शिकायत आई हैं। उपभोक्ता मंत्रालय के मुकाबिक, ई-कॉमर्स से संबंधित अधिकतर शिकायतों को हल किया गया है।

हर माह करीब 70 हजार शिकायतें

उपभोक्ता मंत्रालय को राष्ट्रीय उपभोक्ता हेल्पलाइन (एनसीएच) के जरिए हर माह करीब सत्तर हजार शिकायतें मिलती हैं। अप्रैल 2017 से फरवरी 21 तक ई कॉमर्स को लेकर उपभोक्ताओं की 5 लाख 23 हजार 837 शिकायत मिली। वहीं बैंकिग सेक्टर को लेकर करीब दो लाख शिकायत आई। वर्ष 2021 में अब तक मंत्रालय को एनसीएच के तहत एक लाख 86 हजार शिकायत मिल चुकी हैं। इनमें से एक लाख 51 हजार 844 शिकायतों का निवारण कर कर दिया गया है। इसका मतलब यह हुआ कि 81 फीसदी शिकायतों का निवारण किया गया है। मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि बाकी शिकायतों पर कार्रवाई की जा रही है. उन्हें भी हल किया जाएगा।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...