1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. मेरठ – महिला अधिवक्ता को सैनिटाइजर डालकर जलाया, 70 प्रतिशत जली हालात में अस्पताल में भर्ती

मेरठ – महिला अधिवक्ता को सैनिटाइजर डालकर जलाया, 70 प्रतिशत जली हालात में अस्पताल में भर्ती

By RNI Hindi Desk 
Updated Date

मेरठ – महिला अधिवक्ता को सैनिटाइजर डालकर जलाया, 70 प्रतिशत जली हालात में अस्पताल में भर्ती
मेरठ जिले में एक महिला अधिवक्ता को सैनिटाइजर से जलाने का मामला सामने आया है। सूत्रों की माने तो महिला अधिवक्ता को उनके पति ने सैनिटाइजर डालकर जलाया है। महिला अधिवक्ता के जलने की सूचना जब उसके साथ प्रैक्टिस करने वाले अन्य साथी अधिवक्ताओं को हुई तो उन्होंने मीडिया और पुलिस अधिकारियों को इसकी जानकारी दी।

एसपी देहात ने घटना का संज्ञान लेते हुए थाना पुलिस को कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं। वहीं घटना को 24 घंटे तक पुलिस से छिपाए रखने पर और अधिक संदिग्ध प्रतीत होती है। महिला अधिवक्ता करीब 70 फीसदी तक जल चुकी है। उसकी गंभीर हालत में अस्पताल में इलाज हो रहा है।

जानकारी के अनुसार थाना खरखौदा की काशीराम अवासीय कालोनी में एक महिला अधिवक्ता अपने पति और ससुरालियों के साथ रहती है। महिला अधिवक्ता जिला बार एसोसिएशन की सदस्य भी है। बताया जाता है कि कचहरी में महिला की गिनती तेज-तर्रार अधिवक्ताओं में होती है।

पारिवारिक सूत्रों के मुताबिक महिला अधिवक्ता घर में चाय बना रही थी। जिस दौरान उसका कुर्ता जल गया। जिसके बाद महिला अधिवक्ता भी जल गई।

जबकि वहीं दूसरी ओर अन्य सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार महिला अधिवक्ता को उसके ससुरालियों ने सैनिटाइजर डालकर जलाया है। महिला अधिवक्ता ज़िंदगी और मौत से लड़ रही है। उसको हापुड़ रोड स्थित मुस्कान नर्सिंग होम में भर्ती कराया गया है।

इस घटना को परिवार वालों और ससुराल वालों ने अभी तक छिपाकर रखा था। लेकिन शाम को जब इसकी सूचना महिला अधिवक्ता के साथ प्रैक्टिस करने वाले अन्य साथी अधिवक्ताओं को लगी तो उन्होंने इसकी पूरी जानकारी की।

मामला संज्ञान में आने के बाद एसपी देहात अविनाश पांडे को इसके बारे में बताया। इस घटना के बारे में अधिवक्ता रामकुमार शर्मा ने बताया कि इससे अधिवक्ता समाज में रोष व्याप्त हो गया और हम पुलिस प्रशासन से माँग करते हैं कि तत्काल आरोपियों के विरुद्ध मुक़दमा पंजीकृत कर उनकी गिरफ़्तारी सुनिश्चित कराए। अन्यथा कल अधिवक्ता समाज प्रखर रूप से रोष व्यक्त करने को मजबूर होगा।

उन्होंने कहा कि अगर महिला अधिवक्ता के साथ हुई घटना दुर्घटना है तो उसकी जानकारी थाना पुलिस या बार को क्यों नहीं दी गई। इस बारे में जब एसपी देहात अविनाश पांडे से बात की गई तो उनका कहना था कि घटना की जानकारी हुई है। पूरे मामले की जांच की जा रही है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...