1. हिन्दी समाचार
  2. Education
  3. हाथ मिलाने से पता चल सकता है व्यक्ति का व्यवहार! जानिए ये संकेत

हाथ मिलाने से पता चल सकता है व्यक्ति का व्यवहार! जानिए ये संकेत

किसी भी व्यक्ति से मिलने पर अभिवादन करने के लिए आज लगभग दुनियाभर में हाथ मिलाकर लोगों को इज्जत दिया जाता है। फिर चाहे आप दोस्तों से मिल रहे हो, अपने कलीग से मिल रहे हों, सामने आने पर सबसे पहले अपनापन जाहिर करने के लिए हाथ मिलाते हैं। वहीं बेशक आज के समय में हाथ मिलाना अभिवादन के लिए औपचारिकता बन चुका है परंतु ओर यह आपके सेहत, रंग-ढंग को मापने का तरीका भी साबित हो सकता है।

By RNI Hindi Desk 
Updated Date

जब हम किसी व्यक्ति से मिलने जाते हैं तो अभिवादन के लिए उससे हाथ मिलाते हैं। ऐसे में क्या आपको पता है कि आपके हाथ मिलाने का ढंग आपने नेचर, आपके सेहत और यहां तक की आपके राज के बारे में भी जानकारी मिल सकती है।

 

हाथ मिलाकर समझ सकते हैं सामने वाले की दशा

 

किसी भी व्यक्ति से मिलने पर अभिवादन करने के लिए आज लगभग दुनियाभर में हाथ मिलाकर लोगों को इज्जत दिया जाता है। फिर चाहे आप दोस्तों से मिल रहे हो, अपने कलीग से मिल रहे हों, सामने आने पर सबसे पहले अपनापन जाहिर करने के लिए हाथ मिलाते हैं। वहीं बेशक आज के समय में हाथ मिलाना अभिवादन के लिए औपचारिकता बन चुका है परंतु ओर यह आपके सेहत, रंग-ढंग को मापने का तरीका भी साबित हो सकता है।

 

हेल्थ एक्सपर्ट की माने तो हाथ मिलाने से आप किसी भी व्यक्ति के सेहत के बारे में जानकारी पा सकते हैं। पर आपको इस बात को जानकर हैरानी नहीं होनी चाहिए। ये बात बिल्कुल सही है और वैज्ञानिकों का मानना है कि हाथ मिलाने से किसी भी व्यक्ति के दिल और दिमाग से जुड़ी विपत्तियों के बारे में जाना जा सकता है। ऐसे में आइए जानते हैं कि केवल हैंडशेक करने भर से किसी के सेहत का पता कैसा चल जाता है।

 

क्या कहते हैं रिसर्च के नतीजे

 

अभी जल्द ही एक रिसर्च में यह बताया गया है कि यदि कोई व्यक्ति बहुत धीरे से हाथ मिलाता है तो इसका तात्पर्य है कि उसे भविष्य में दिल का दौरा या स्ट्रोक जैसे खतरों का सामना करना पड़ सकता है। आपको बता दें कि यह रिसर्च लंदन की क्वीन मैरी यूनिवर्सिटी में ब्रिटिश हार्ट फाउंडेशन की ओर से हैंडशेक से जुड़े अध्ययन के अंतर्गत किया गया था जिसमें अध्ययन के लिए 5000 लोग शामिल हुए थे।

 

जिसमें यह सामने आया था कि जिन लोगों के हैंडशेक ढीले थे और उनमें कमजोरी थी, उन लोगों का हृदय बाकी अन्य लोगों की तुलना में कमजोर पाया गया था। इस रिसर्च को लीड कर रहे प्रोफेसर स्टीफन पीटरसन के मुताबिक हाथ मिलाने के दौरान अगर हाथ की पकड़ ढीली है तो ये दिल के रोग को समझने का एक बड़ा संकेत हो सकता है।

 

वहीं इस अध्ययन में ये भी कहा गया है कि जिन लोगों के हाथ की पकड़ हाथ मिलाने के दौरान ढीली थी उनमें से कई लोग डिप्रेशन के शिकार थे। जिसमें आगे कहा गया कि, अक्सर जो लोग डिप्रेशन में रहते हैं, उनके शरीर पर थकान और कमजोरी झलकती रहती है और ऐसे में हैंडशेक के दौरान हाथ की पकड़ ढीली हो जाती है।

 

वहीं हाथ की ढीली पकड़ गठिया और डिमेंशिया जैसे रोगों का संकेत देती हैं। वहीं हाथ मिलाते समय अगर किसी के हाथ से ज्यादा पसीना निकलता है तो वह व्यक्ति हाइपरहाइड्रोसिस बिमारी के शिकार से ग्रसित हो सकता है। आपको जानकर आश्चर्य हो सकता है कि साल 1951 में हैंडशेक से जुड़ी ऐसी ही एक रिसर्च की गई थी जिसमें रिसर्च के बारे में कहा गया था कि हाथ मिलाते वक्त जिन लोगों के हाथ की पकड़ ढीली होती है, उनकी मौत जल्दी होने की आशंका होती है।

…ABHINAV TIWARI…

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा की राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...