Home उत्तर प्रदेश अपर जिला जज को वकीलों ने दौड़ा-दौड़ाकर पीटा, बरसाये लात-घूसे, जज साहब ने भागकर बचाई अपनी जान

अपर जिला जज को वकीलों ने दौड़ा-दौड़ाकर पीटा, बरसाये लात-घूसे, जज साहब ने भागकर बचाई अपनी जान

1 second read
0
14

रिपोर्ट: सत्यम दुबे

उन्नाव: दिल्ली पुलिस और तीस हजारी कोर्ट के वकीलों के बीच पिछले साल 3 नवंबर को जबरदस्त मारपीट हो गई थी। वकीलों ने पुलिस वालों को जमकर पीटा था। घटना के दो दिन बाद 5 वनंबर को दिल्ली पुलिस हेडक्वार्टर के सामने पुलिसवालों ने प्रदर्शन किया था। इस गौरान पुलिस वाले तख्तियां लेकर खड़े हुए। जिन पर लिखा था, ‘रक्षा करने वालों की रक्षा करें’। ये बाते हम आपको इसलिए बता रहें हैं कि ऐसा ही एक ताजा मामला उत्तर प्रदेश के उन्नाव जिले से सामने आया है।

शुक्रवार 26 मार्च को उन्नाव जिले की न्यायालय में उस वक्त हड़कंप मच गया, जब सुनवाई के लिए कोर्ट में पहुंचे अपर जिला जज ADJ की वकालों ने पिटाई कर दी। तीस हजारी कोर्ट में हुई घटना में खाकी और काला कोट पहनने वाले आपस में भिड़े थे। लेकिन उन्नाव में काला कोट पहनने वाले ही आपस में भिड़ गये।

आपको बता दें कि वकीलों पर आरोप है कि जज साहब की पिटाई के दौरान मोबाइल छीन लिया गया। मामले की शिकायत एडीजे ने पुलिस से की है, जज साहब की शिकायत पर मामला दर्ज कर लिया गया है।

आपको बता दें कि उन्नाव की जिला अदालत में प्रतिदिन की ही तरह काम चल रहा था। इसी बीच वहां हल्ला गुल्ला होने लगा। जब मामले की जानकारी की गई तो पता चला कि कुछ वकीलों ने अपर जिला जज प्रह्लाद टंडन की कोर्ट में पहुंचकर उनकी पिटाई शुरु कर दी। इसी बीच जज साहब का मोबाइल भी छीन लिया गया।

घटना के बाद पीड़ित जज साहब ने शहर कोतवाली में उन्नाव बार एसोसिएशन के अध्यक्ष और महामंत्री समेत कई वकीलों के खिलाफ तहरीर दी है। मिली जानकारी के मुताबिक अपर जिला जज (ADJ) प्रह्लाद टंडन ने इस घटना के संबंध में जिला जज से भी शिकायत की है। अब पुलिस ने एडीजे की शिकायत पर इस मामले में मुकदमा तो दर्ज कर लिया है। लेकिन पुलिस इस बारे में कुछ कहने को तैयार नहीं है।

Load More In उत्तर प्रदेश
Comments are closed.