Home सीतापुर घर से हीरोइन बनने निकली थी ज्योति, बन गई लाश

घर से हीरोइन बनने निकली थी ज्योति, बन गई लाश

0 second read
0
770
Jyoti Sitapur

नई दिल्ली : सपने देखना, उसे साकार करना हर किसी का ख्वाब होता हैं, जिसे लेकर वे तरह-तरह की कोशिशें करता है, की वे अपने उस मुकाम को हासिल कर सकें। ऐसा ही कुछ सपना था सीतापुर की ज्योति का, जिसका सपना था हिरोइन बनने का। अपने इसी सपने को साकार करने के लिए ज्योति भी अपने घर से बाहर निकलती हैं, लेकिन वापस आता है उनका शव।

यूपी पुलिस भी हैरान

दरअसल ये पूरा मामला उत्तर प्रदेश के सीतापुर की है, जहां हिंडोरा गांव निवासी सुनील गुप्ता की 20 वर्षिय बेटी ज्योति गुप्ता हिरोइन बनने का सपना लेकर घर से निकली थी, लेकिन ठीक दो दिन बाद उसका शव लखीमपुर के जिला अस्पताल में पाया जाता है, जिससे पूरे परिवार में कोहराम की स्थिति है। वहीं प्रशासन भी हैरान हैं कि आखिर ज्योति लखिमपुर में क्या कर रहीं थीं, क्योंकि यहां ना कोई फिल्म सिटी सेंटर और ना किसी टेलीफिल्म की शूटिंग।

परिवारजनों ने क्या बताया

परिवारजनों ने बताया कि उन्हें इस मामले में कोई जानकारी नहीं है। वो अक्सर फिल्म में हिरोइन बनने के लिए ऑडिशन देने के नाम पर कई बार घर से बाहर जा चुकी है। वो लखिमपुर कैसे पहुंची उन्हें कोई जानकारी नहीं है। आपको बता दें कि यूपी पुलिस ने इस बाबत मामला दर्ज कर लिया है,। खबरों की मानें तो ज्योति की मौत की पहली वजह जहर खाना बताया जा रहा है। हालांकि वो जहर उसने कैसे खाईं या किसने खिलाया इसकी पुलिस जांच कर रही है।

इन सवालों का जवाब ढूंढ रहीं यूपी पुलिस

इसके अलावा पुलिस ज्योति किनके संपर्क थी, वो किसके साथ घर से बाहर निकली थी, उसके शव को किसने अस्पताल पहुंचाया। इसके साथ ही जिसने उसके शव को अस्पताल पहुंचाया उसने उसके घर का पता गलत क्यों लिखवाया? अब देखना यह है कि इस मामले में एफआईआर दर्ज करने के बाद अब यूपी पुलिस कैसे इसके विभिन्न पहलुओं को सुलझाती है।

Load More In सीतापुर
Comments are closed.