1. हिन्दी समाचार
  2. bollywood
  3. भारत में 5जी टेक्नोलॉजी को लेकर जूही चावला ने दायर किया मुकदमा, पूछा आनेवाले पीढ़ी के लिए सुरक्षित या नहीं

भारत में 5जी टेक्नोलॉजी को लेकर जूही चावला ने दायर किया मुकदमा, पूछा आनेवाले पीढ़ी के लिए सुरक्षित या नहीं

By Amit ranjan 
Updated Date

नई दिल्ली : बॉलीवुड की जानी-मानी एक्ट्रेस जूही चावला एक लंबे वक्त से मोबाइल टावरों से निकलने वाले हानिकारक रेडिएशन के खिलाफ लोगों में जागरूकता फैलाने की कोशिश करती रहीं हैं। जिसे लेकर एक बार फिर एक्ट्रेस ने हाइकोर्ट का दरवाजा खटखटाया है। जूही चावला ने अब भारत में 5G टेक्नोलॉजी को लागू करने के खिलाफ एक याचिका दिल्ली हाई कोर्ट में दायर की है, जिसकी पहली सुनवाई आज यानि सोमवार को हो चुकी है। अब इस मामले की अगली सुनवाई 2 जून को होगी।

जूही चावला की ओर से दाखिल इस याचिका में मांग की गई है कि 5G टेक्नोलॉजी को लागू किये जाने से पहले इससे जुड़े तमाम तरह के अध्ययनों पर बारीकी से गौर किया जाए और फिर उसके बाद ही इस टेक्नोलॉजी को भारत में लागू करने के बारे में विचार किया जाए। जूही चावला ने अपनी इस याचिका में भारत सरकार के दूरसंचार मंत्रालय से आम लोगों, तमाम जीव-जंतुओं, वनपसस्तियों और पर्यावरण पर 5G टेक्नोलॉजी के लागू किये जाने से पड़ने वाले असर से जुड़े अध्ययन को बारीकी से कराने और ऐसे रिपोर्ट्स के आधार पर ही इसे भारत में लागू करने और नहीं करने को लेकर कोई फैसला करने की अपील की है।

जूही चावला के प्रवक्ता ने एक आधिकारिक बयान में कहा कि भारत में 5G टेक्नोलॉजी को लागू किये जाने से पहले RF रेडिएशन से मानव जाति, महिला, पुरुषों, व्यस्कों, बच्चों, शिशुओं, जानवरों, जीव-जंतुओं, वनस्पतियों और पर्यावरण पर पड़नेवाले प्रभावों को लेकर अच्छे से अध्ययन किया जाए और इससे संबंधित किये गये अथवा किये जानेवाले तमाम रिपोर्ट्स को सार्वजनिक किया जाए। प्रवक्ता का कहना है कि इस तरह के अध्ययन से स्पष्ट किया जाना जरूरी है कि क्या 5G टेक्नोलॉजी भारत की मौजूदा और आनेवाली पीढ़ी के लिए सुरक्षित या नहीं और इसके बाद ही इसे लागू करने को लेकर विचार किया जाए।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...
RNI News Ads