Home देश कोरोना के लगातार बढ़ते केस को लेकर भारत में लग सकता है संपूर्ण लॉकडाउन!, अमेरिकी विशेषज्ञ ने दी सलाह…

कोरोना के लगातार बढ़ते केस को लेकर भारत में लग सकता है संपूर्ण लॉकडाउन!, अमेरिकी विशेषज्ञ ने दी सलाह…

0 second read
0
1,138

नई दिल्ली : देश में लगातार कोरोना के बढ़ते मामलों को लेकर एक बार फिर संपूर्ण लॉकडाउन का खतरा मंडराने लगा है। हालांकि सरकार ने पहले ही ये तय कर लिया है कि वो संपूर्ण लॉकडाउन नहीं लगायेगा। इसे लेकर उन्होंने अब राज्य सरकार पर ये चीजें छोड़ दी है की वो कोरोना संक्रमण को लेकर एहतियातन कोई भी कदम उठाये। जिससे वो कोरोना महामारी को कंट्रोल कर सकें।

इसी बीच शीर्ष महामारी विशेषज्ञ एंथनी फाउची का बड़ा बयान सामने आया है। जिसमें उन्होंने भारत सरकार को संक्रमण को फैलने से लेकर कुछ सप्ताह का संपूर्ण लॉकडाउन लगाने की सलाह दी है। फाउची ने ‘इंडियन एक्सप्रेस’ को दिए साक्षात्कार में कहा कि इसके अलावा ऑक्सीजन, दवाओं और पीपीई किट की उपलब्धता बढ़ाना दूसरी महत्वपूर्ण आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि संकट की भयावहता के मद्देनजर, भारत को एक संकट समूह बनाना चाहिए, जो बैठकें करे और चीजों को संगठित करना शुरू करे।

फाउची ने किसी सरकार का नाम लिए बगैर कहा कि यह बात समझने की आवश्यकता है कि ‘‘जीत की घोषणा संभवत: जल्दी कर दी गई।” बाइडन प्रशासन के शीर्ष चिकित्सकीय सलाहकार फाउची ने कहा, ‘‘आपको एक चीज करने की बहुत आवश्यकता है, वह है कि आप देश को अस्थायी रूप से बंद कर दे। मुझे लगता है कि यह अहम है।”

उन्होंने कहा कि, ‘‘मुझे लगता है कि एक चीज जो अत्यंत महत्वपूर्ण है, वह है ऑक्सीजन और पीपीई किट समेत चिकित्सीय सामान हासिल करना। इसके अलावा देश में तत्काल लॉकडाउन लगाना आवश्यक है।” फाउची ने कहा कि जब चीन में एक साल पहले इसी प्रकार तेजी से संक्रमण फैला था, तो उसने पूर्णतय: लॉकडाउन लगा दिया था।  उन्होंने कहा कि छह महीने का प्रतिबंध लगाना जरूरी नहीं है, लेकिन संक्रमण की श्रृंखला रोकने के लिए अस्थायी लॉकडाउन लगाया जा सकता है।

फाउची ने कहा कि कुछ सप्ताह का लॉकडाउन लगाने से संक्रमण को रोकने में काफी मदद मिल सकती हैं। उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस से निपटने में टीकाकरण की अहम भूमिका है। फाउची ने कहा कि यदि 1.4 अरब की आबादी वाले भारत ने अपनी जनसंख्या के केवल दो प्रतिशत लोगों का पूर्ण टीकाकरण किया है, तो अभी लंबी दूरी तय करनी है।

उन्होंने कहा कि, ‘‘आपको आपूर्ति हासिल करनी होगी. आपको विश्व की विभिन्न कंपनियों से करार करने होंगे। अब कई कंपनियों के पास टीके हैं।” उन्होंने कहा कि, ‘‘भारत दुनिया में सबसे अधिक टीके बनाने वाला देश है। आपको टीका निर्माण के लिए अपनी क्षमताओं को बढ़ाना होगा।”

और जहां रही भारत में संपूर्ण लॉकडाउन लगाने की बात अभी तक इस विषय पर केंद्र या राज्य सरकार द्वारा इस विषय पर कोई ऐलान नहीं किया गया है।

Load More In देश
Comments are closed.