1. हिन्दी समाचार
  2. Breaking News
  3. IIT बॉम्बे ने कोरोना वायरस पर हुए रिसर्च में किया खुलासा कहा- पतली तरल सतह पर जीवित रहता है वायरस

IIT बॉम्बे ने कोरोना वायरस पर हुए रिसर्च में किया खुलासा कहा- पतली तरल सतह पर जीवित रहता है वायरस

By RNI Hindi Desk 
Updated Date

देस में कोरोना का संक्रमण 92 लाख के आंकड़े को पार कर गया है। देशभर में अभी तक 92 लाख 66 हजार 705 से ज्यादा मामले सामने आए हैं। वहीं कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए लगातार इस पर रिसर्च जारी है।

आईआईटी-बॉम्बे के शोधकर्ताओं ने कोरोना वायरस पर हुई रिसर्च में इस बात का खुलासा किया है कि कोरोना वायरस के कण पतली फिल्म की सतह पर कई दिनों तक जीवित रह सकते हैं। कोरोना पर हुई कुछ रिसर्च बताती हैं कि कोरोना वायरस के कण एक मनुष्य से दूसरे मनुष्य तक हवा में मौजूद कणों से फैल सकता है।

कोरोना वायरस पर हुई कुछ रिसर्च बताती हैं कि इसके कण छींक या सांस के रूप में शरीर से बाहर आई हवा की बूंदों से भी फैल सकता है। फिलहाल यह रिसर्च बताती हैं कि कोरोना वायरस के कण इन परिस्थिती में ज्यादा समय तक आक्रामक नहीं होते।

फिलहाल आईआईटी-बॉम्बे में हुई रिसर्त बताती है कि कोरोना वायरस के कण किसी भी पतली फिल्म पर चिपक कर कई दिनों तक जिंदा रह सकते हैं। जिससे संक्रमण के फैलने का खतरा काफी बढ़ जाता है। शोधकर्ताओं ने बताया कि कैसे लंदन-वैन डेर वाल्स बल के कारण नैनोमीटर की पतली फिल्म की सतह पर कोरोना वायरस के कण घंटों तक जीवित रह सकते हैं।

इसी के साथ आप को बता दे की भारत में कोरोना के कुल मामले बढ़कर 93 लाख 9 हजार हो गए हैं। इनमें से अब तक एक लाख 35 हजार 715 लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ी है।

कुल एक्टिव केस बढ़कर चार लाख 55 हजार पर आ गए। पिछले 24 घंटे में एक्टिव केस की संख्या 3211 बढ़ गई। अब तक कुल 87 लाख 18 हजार लोग कोरोना को मात देकर ठीक हो चुके हैं। पिछले 24 घंटे में 39,379 मरीज कोरोना से ठीक हुए।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...