Home खेल भारतीय टीम के साथ बुरे व्यवहार पर आईसीसी ने अपनाया कड़ा रुख – नस्लवाद को बर्दाश्त नहीं करेंगे

भारतीय टीम के साथ बुरे व्यवहार पर आईसीसी ने अपनाया कड़ा रुख – नस्लवाद को बर्दाश्त नहीं करेंगे

0 second read
0
4

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच सिडनी क्रिकेट ग्राउंड में तीसरा टेस्ट खेला जा रहा है। लेकिन पिछले तीन दिन से लगातार ऑस्ट्रेलियाई दर्शकों द्वारा भारतीय टीम के खिलाडियों को भद्दे कमेंट्स किए जा रहे हैं जिससे क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया निशाने पर आ गया है। आईसीसी ने साफ़ कहा है कि इस तरफ का बर्ताव बिलकुल बर्दाश्त नहीं होगा। हम क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया को पूरा समर्थन देने के लिए तैयार हैं।

आइसीसी ने कहा – ” मैदान पर मौजूद अधिकारियों और क्रिकेट आस्ट्रेलिया (सीए) ने जो कदम उठाए हम उससे खुश हैं। हम क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया और संबंधित अधिकारियों को अपना पूरा समर्थन देते हैं। साथ ही हम खेल में हम किसी तरह से नस्लवाद को बर्दाश्त नहीं करेंगे। ”

आपको बता दें कि क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने इस मामले की जांच के आदेश दे दिए हैं। अब देखना ये है कि उन दर्शकों पर क्या कार्रवाई की जाती है।

दरसअल, शनिवार को यानि मैच के तीसरे दिन देखा गया था कि भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच चल रहे मैच में ऑस्ट्रेलियाई दर्शकों ने भारतीय टीम के प्रति बेहद ही खराब बर्ताव दिखाया था। बीच मैच में मोहम्मद सिराज और जसप्रीत बुमराह को लेकर अभद्र टिप्पणी की गई थी। जिसको लेकर बसीसीआई ने शिकायत भी दर्ज कराई थी।

लेकिन इतना सब होने के बाद भी रविवार को फिर मैच के बीच में दर्शकों की तरफ से बाउंड्री पर खड़े मोहम्मद सिराज को अभद्र भाषा का सामना करना पड़ा। सिराज तुरंत कप्तान अजिंक्य रहाणे के पास पहुंचे और उन्हें इसकी जानकारी दी। सिराज की शिकायत के बाद 6 दर्शकों को मैदान से बाहर भेजा गया है।

इसके बाद क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने भारतीय टीम से माफ़ी भी मांगी और कड़ी करवाई का आश्वासन भी दिया।

इस मामले पर आईसीसी के अधिकारी मनु स्वाहने का कहना है – ” हमारे खेल में भेदभाव को लेकर कोई जगह नहीं है और हम निराश हैं कि दर्शकों की बहुत कम तादाद के बावजूद ऐसा हो रहा है। हमारी भेदभाव को लेकर नीति है, जिसे सदस्य देशों को मानना होता है और यह सुनिश्चित करना होता है कि प्रशंसक भी उसे मानें। “

Load More In खेल
Comments are closed.