Home क्राइम हरियाणा: सोनीपत कोर्ट के बाहर पुलिस वाले ने शार्प शूटर को मारी गोली, PGI अस्पताल में करवाया भर्ती

हरियाणा: सोनीपत कोर्ट के बाहर पुलिस वाले ने शार्प शूटर को मारी गोली, PGI अस्पताल में करवाया भर्ती

2 second read
0
14

रिपोर्ट- पल्लवी त्रिपाठी

हरियाणा : हरियाणा से शर्मसार करने वाली घटना सामने आयी है । जहां सोनीपत कोर्ट के बाहर एक कांस्टेबल ने ही सुपारी लेकर कुख्यात बदमाश पर गोलियां चलायी । जिससे बदमाश गंभीर रूप से घायल हो गया । घायल को इलाज के लिए अस्पताल पहुंचाया गया है, जहां उसका इलाज चल रहा है ।

मामला हरियाणा के सोनीपत कोर्ट का है । जहां गुरुवार को कुख्यात बदमाश अजय उर्फ बिट्‌टू को पेशी के लिए लाया गया था । पेशी के बाद आरोपी बिट्टू को वापस वैन में बैठाया गया । तभी कांस्टेबल महेश ने दोपहर करीब 1:00 बजे अवैध पिस्तौल निकालकर बिट्टू के सिर पर 3 गोलियां चला दी । जिसके वहां मौजूद आनन-फानन में महेश को पकड़ लिया और घायल को रोहतक के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया । वहीं, आरोपी कांस्टेबल को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है ।

पुलिस सूत्रों की मानें तो पूछताछ में महेश ने बताया कि ‘वह और कुछ अन्य पुलिसकर्मी शराब तस्करी के नेटवर्क से जुड़े हैं। कुछ समय पहले बिहार के लिए ट्रक में भेजी गई शराब की खेप UP में पकड़ी गई थी । इसमें उसकी भी हिस्सेदारी थी । शराब पकड़े जाने से उसको करीब 12 लाख रु. का नुकसान हुआ था ।

कांस्टेबल ने आगे बताया कि उसकी गैंगस्टर रामकरण से जान पहचान है । उसने रामकरण से मदद मांगी । रामकरण ने उसे 50 लाख रु. की सुपारी देकर अजय उर्फ बिट्टू की हत्या के लिए तैयार किया । जानकारी के मुताबिक, वारदात को अंजाम देने के लिए महेश ने सोनीपत में कैदियों को पेशी पर लेकर जाने वाले गार्ड में दो माह पहले ड्यूटी लगवाई थी। रामकरण के गैंग ने ही महेश को अवैध पिस्तौल दी, जिससे महेश ने बिट्टू को गोलियां मारीं ।

बता दें कि वारदात के 7 मिनट बाद ही रामकरण गैंग के कई बदमाश बिट्टू के पिता कृष्णा के घर पहुंच गए । जहां बदमाशों ने बिट्टू के पिता को गोलियों से भून दिया । मृतक की पत्नी ने मामले की जानकारी दी । उन्होंने बताया कि गांव के बदमाश मुनिया से उनकी पुरानी दुश्मनी है। मुनिया ने रामकरण बैंयापुर के साथ मिलकर इस हत्या को अंजाम दिया है ।

मामले को लेकर सोनीपत के SP जश्नदीप रंधावा के अनुसार, कांस्टेबल महेश पर हत्या के प्रयास सहित विभिन्न धाराओं में केस दर्ज किया है। कृष्ण की हत्या में 18 लोगों पर केस दर्ज किया है।

आपको बताते चलें कि बिटटू ने साथियों के साथ मिलकर 2017 में गांधरा निवासी एडवोकेट सत्यवान मलिक की हत्या की थी । इसके अलावा उस पर अवैध हथियार रखने का भी आरोप है । बिट्‌टू संदीप बड़वासनी गैंग का मुख्य सदस्य रह चुका है। साल 2014 में बैंयापुर के रामकरण व बडवासनी के बीच गैंगवार हुई थी । जिसमें 10 से ज्यादा लोगों की जान चली गयी थी ।

वहीं, इस मामले का आरोपी कांस्टेबल कई सालों पहले सरकारी पिस्तौल की गोलियां बेचता था । जिसके चलते उसे सस्पेंड कर दिया गया था । हालांकि, बाद में उसे बहाल कर दिया गया ।

Load More In क्राइम
Comments are closed.